पानी में डूबा हम्पी, कोल्हापुर और सतारा में भारी बारिश का अलर्ट

सोमवार, 12 अगस्त 2019 (08:51 IST)
मुंबई। देश के 5 राज्यों में रविवार को भी भारी बारिश और बाढ़ की वजह से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। एक तालाब से पानी छोड़ने से कर्नाटक का हम्पी पानी में डूब गया तो महाराष्‍ट्र के बाढ़ प्रभावित कोल्हापुर और सतारा में आज भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। विभिन्न स्थानों पर सेना, नौसेना, तटरक्षक, एनडीआरएफ, पुलिस, स्वयंसेवक और मछुआरे बचाव अभियान में जुटे हुए हैं।
 
मौसम विभाग ने पूर्वानुमान लगाया है कि महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित पुणे, कोल्हापुर और सतारा जिलों में कई जगहों पर सोमवार को भारी बारिश हो सकती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय कार्यालय के अनुसार, मंगलवार को कुछ कम बारिश होने की संभावना है। इससे राहत कार्यों में मदद मिल सकती है।
 
तटवर्ती रत्नरागिरि और सिंधुदुर्ग जिलों के लिए भी ऐसे ही पूर्वानुमान हैं। इन जिलों में भी पिछले सात दिन से लगातार बारिश हो रही है।
 
बाढ़ ने ली 183 लोगों की जान : बारिश से बेहाल दक्षिण और पश्चिम भारत को रविवार को भी कहीं से कोई राहत नहीं मिली और केरल में जहां 72 लोगों की मौत हुई है वहीं कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में बारिश और बाढ़ के कारण 111 लोगों की जान चली गई है।
 
तालाब से छोड़ा पानी, डूब गया हम्पी : दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक में सभी नदियां उफान पर हैं। बेल्लारी जिले में तुंगभद्रा नदी के तट पर स्थित यूनेस्को विश्व धरोहर हम्पी रविवार की सुबह एक जलाशय से 1.70 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद डूब गया। अधिकारियों के अनुसार हम्पी से पर्यटकों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।
 
कर्नाटक में अप्रत्याशित बाढ़ के चलते पिछले हफ्ते से अब तक 40 लोगों की जान चली गई और 17 जिलों के 80 तालुकों में चार लाख लोग विस्थापित हो गए।
 
गुजरात में भारी बारिश, 12 ट्रेनों पर पड़ा असर : गुजरात में भारी बरसात से 29 जगहों पर ट्रैक क्षतिग्रस्त हो जाने से 12 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। अहमदाबाद मण्डल रेल प्रबंधक दीपक कुमार झा ने बताया कि पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक एके गुप्ता पूरे मामले में गहन मानिटरिंग कर रहे हैं तथा उनके निर्देश पर मुंबई से उच्च अधिकारियों को क्षतिग्रस्त स्थलों पर भेजा गया है तथा ट्रैक को जल्दी सुधारने के लिए अहमदाबाद, भावनगर, मुंबई, वडोदरा व रतलाम मंडलों से 600 से अधिक कर्मचारियों को इस कार्य हेतु तैनात किया गया हैं।
 
शुरू हुआ कोच्चि एयरपोर्ट : कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रविवार को उड़ान परिचालन बहाल हो गया। रनवे पर पानी भर जाने के कारण हवाई अड्डा दो दिनों से बंद था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कश्मीर: पाकिस्तान व्यापारिक रिश्ता तोड़ अपना ही कर रहा नुक़सान