Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather update : कर्नाटक में भारी बारिश से नदियां उफान पर, MP के कई जिलों में अलर्ट

webdunia
मंगलवार, 22 सितम्बर 2020 (01:46 IST)
बेंगलुरु। पिछले कुछ दिनों से हो रही मूसलधार बारिश के कारण राज्य की अधिकतर नदियां उफान पर हैं, जबकि सबसे बुरी तरह प्रभावित उडुपी जिले में स्थिति गंभीर बनी हुई है, जहां सोमवार को बारिश में थोड़ी राहत के बावजूद बाढ़ के पानी में कोई कमी नहीं आई है। वहीं दूसरी ओर मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताते हुए अलर्ट जारी किया है।

कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र (केएसएनडीएमसी) के अनुसार, शुक्रवार से ही हो रही भारी बारिश के कारण लगभग सभी बांध पूरी तरह से भर गए हैं, जिसकी वजह से उनके जलद्वार खोल दिए गए हैं।केएसएनडीएमसी के एक अधिकारी ने कहा, जलद्वार खुलने से निचले क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।

अधिकारी ने कहा, हमने कई इलाकों में अलर्ट जारी किया है, फिर भी कुछ गांवों को समस्या का सामना करना पड़ेगा। जल संसाधन विभाग के सूत्रों के अनुसार, कावेरी, हेमवती, कपिला और हरंगी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और बांधों से छोड़े जा रहे पानी से स्थिति और गंभीर होगी।
 
जल संसाधन विभाग के एक अधिकारी ने कहा, हमने आज केआरएस (कावेरी नदी पर कृष्णाराजा सागर बांध) से 40 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा है। हमने निचले इलाके में लोगों को सावधान किया है।इसी तरह, कर्नाटक के उत्तरी और अंदरुनी हिस्सों में भी नदियां कहर बरपा रही हैं। वहां के महत्वपूर्ण बांध भद्रा, तुंगभद्रा, घाटप्रभा, मालप्रभा, अलमात्ती और नारायणपुरा पूरी तरह भरे हुए हैं।

वहीं मेंगलुरु से मिली खबर के मुताबिक, चार दशकों में आई अभूतपूर्व बाढ़ के कारण उडुपी के निचले इलाकों में बाढ़ के हालात बने हुए हैं और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) को बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जिले के कुछ स्थानों में बारिश के थमने की वजह से जीवन धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि उडुपी जिले में ऐसी भारी बारिश पिछले चार दशकों में नहीं देखी गई थी।

मध्यप्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट : मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के सिवनी, मंडला, बालाघाट और डिंडोरी जिलों में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताते हुए सोमवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। भारत मौसम विभाग (आईएमडी) के भोपाल केन्द्र के एक अधिकारी ने सोमवार को जबलपुर सहित सात जिलों के लिए यलो अलर्ट जारी कर मूसलधार बारिश का अनुमान जताया है।

इसी तरह भोपाल और इंदौर सहित आठ स्थानों पर बिजली और गरज के साथ बारिश होने का अनुमान है। उन्होंने बताया कि मौसम का यह पूर्वानुमान मंगलवार सुबह तक मान्य है।

आईएमडी के भोपाल केन्द्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी एचएस पांडे ने बताया, बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र अगले 48 घंटे में मध्यप्रदेश के पूर्वी हिस्से की ओर बढ़ने की संभावना है। पांडे ने बताया कि मध्यप्रदेश में अब तक 913 मिमी सामान्य बारिश के मुकाबले 936.6 मिमी वर्षा हो चुकी है। प्रदेश के कई स्थानों पर पिछले 24 घंटे में बारिश हुई है।

केरल में भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में 3 लोगों की मौत : केरल में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है। इससे जुड़ी घटनाओं में तीन लोगों को मौत हो गई है। सोमवार को भी राज्य के कई हिस्सों में बारिश हुई। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि कासरगोड जिले में दो अलग-अलग स्थानों पर पानी से भरे गड्ढों में गिरने से 37 और 50 वर्ष के दो व्यक्ति डूब गए।

प्राधिकरण ने बताया, रविवार को तिरुवनंतपुरम में एक व्यक्ति की मौत हुई। भारी बारिश और तेज हवा की वजह से टूटे कर जमीन पर गिरे बिजली के तार की चपेट में आने से व्यक्ति की मौत हो गई।' भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी में निम्न वायु दाब का क्षेत्र बनने के बाद 10 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
 
कोट्टयम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मालापुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। कुंडला, कल्लारकुट्टी, मलंकारा और पोनमुडी बांध के फाटक खोल दिए गए हैं, जिससे पेरियार, मुतीरापुझा और मुवाट्टुपुझा नदियों में जलस्तर बढ़ गया है।
 
ओडिशा के कई हिस्सों में भारी बारिश : बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण सोमवार को ओडिशा के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हुई। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में राज्य में और अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया है। शहर के कई निचले इलाकों में रुक-रुक कर बारिश हुई जिससे यातायात बाधित हो गया।

 
भुवनेश्वर में सुबह से ही 80 मिमी से अधिक वर्षा दर्ज की गई जबकि कटक शहर में 25 मिमी से अधिक वर्षा हुई। गंजम, अंगुल, नयागढ़, सोनपुर और संबलपुर जैसे जिलों में भी रविवार की तुलना में अधिक बारिश हुई। मौसम केंद्र ने नबरंगपुर, नुआपाड़ा, बरगढ़, झारसुगुड़ा और बलांगीर जिलों के कुछ क्षेत्रों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है, जहां मंगलवार तक भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में पदार्पण पर अर्धशतक जड़ने वाले पडिक्कल ने IPL में किया कमाल