Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दंगल गर्ल को अब आई कश्मीरियों की याद, कहा- 6 माह में जिन्दगी बदहाल

webdunia

सुरेश एस डुग्गर

मंगलवार, 4 फ़रवरी 2020 (18:36 IST)
जम्मू। ‘दंगल गर्ल’ और बालीवुड फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ और ‘द स्काई इज पिंक’ में काम कर चुकीं जायरा वसीम को अब कश्मीरियों की याद आई हैै। उसने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट जारी करते हुए कहा है कि इन 6 महीनों में कश्मीरियों की जिन्दगी बदहाल बना दी गई है।
 
जायरा वसीम ने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर करते हुए लिखा कि कश्मीर लगातार उम्मीद और हताशा के बीच झूल रहा है। यह निराशा और दुःख के स्थान पर शांति का एक झूठा और असहज लक्षण है। हम कश्मीरी एक ऐसी दुनिया में जी रहे हैं, जहां किसी की स्वतंत्रता पर प्रतिबंध लगाना काफी आसान है। हमें ऐसी दुनिया में क्यों रहना पड़ रहा है, जहां पर हमारी जिंदगी और इच्छाओं को नियंत्रित किया जा रहा है? हमारी जिंदगी को लेकर तानाशाही हो रही है और उन्हें तोड़ा-मरोड़ा जा रहा है। हमारी आवाजों को खामोश करना इतना आसान क्यों है?
 
अपनी पोस्ट में जायरा वसीम ने वहां के हालात के बारे में बात करते हुए कई गंभीर सवाल उठाए हैं। जायरा ने अपने पोस्ट में लिखा है कि हमें ऐसे हालात में क्यों रखा जा रहा है जहां हम पर पाबंदियां हैं और हमें डिक्टेट किया जा रहा है।”
 
उन्होंने आगे लिखा कि हमारी आवाज को दबा देना इतना आसान क्यों हैं? हमारी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर पाबंदी लगाना इतना आसान क्यों है? हमें अपनी बात कहने और विचार रखने की आजादी क्यों नहीं है? हमारे विचारों को सुने बिना ही उन्हें बुरी तरह खारिज कर दिया जा रहा है। हम बिना किसी डर और चिंता के आम लोगों की तरह क्यों नहीं जी सकते? उन्होंने आगे कहा कि जम्मू कश्मीर में कोई भी आकर पाबंदी लगा देता है। हमें ऐसी दुनिया में क्यों रहना है, जहां हमारे जीवन और इच्छाशक्ति को नियंत्रित किया जाता है?
 
उन्होंने आगे लिखा कि कश्मीरी की जिंदगी उम्र भर मुश्किलों, पाबंदियों और परेशानियों में गुजरती है, इसे इतना आम क्यों बना दिया गया है? ऐसे हजारों सवाल हमारे जहन में उठते हैं। सरकारें हमारे इन सवालों के जवाब तो दूर इन्हें सुनना भी नहीं चाहती। हमारी शंकाओं और अटकलों पर विराम लगाने की थोड़ी सी भी कोशिश नहीं करती।
 
इस दौरान जायरा ने मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं और लोगों को कश्मीर के हालात पर सवाल पूछने के लिए कहा। उन्होंने लिखा कि मीडिया ने जो यहां के हालात के बारे एक धुंधली तस्वीर बताई है, उस पर यकीन न करें, सवाल पूछें, हमारी आवाज़ों को चुप करा दिया गया है-और कब तक। हममें से कोई भी वास्तव में नहीं जानता है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ISIS के संदिग्ध आतंकी ने कोलकाता में जज पर फेंका जूता, वकील को लगा