Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia

आज के शुभ मुहूर्त

(त्रिपुष्कर योग)
  • शुभ समय-9:11 से 12:21, 1:56 से 3:32
  • व्रत/मुहूर्त-त्रिपुष्कर योग, विश्व खाद्य दिवस
  • राहुकाल- सायं 4:30 से 6:00 बजे तक
  • यात्रा शकुन-इलायची खाकर यात्रा प्रारंभ करें।
webdunia
Advertiesment

मां दुर्गा के 32 नाम, अष्टमी पर जपने से पूरे होंगे सारे काम

हमें फॉलो करें webdunia
दानव महिषासुर के वध से प्रसन्न और निर्भय हो गए त्रिदेवों सहित देवताओं ने प्रसन्न भगवती से ऐसे किसी अमोघ उपाय की याचना की, जो सरल हो और कठिन से कठिन विपत्ति से छुड़ाने वाला हो। 
 
'हे देवी! यदि वह उपाय गोपनीय हो तब भी कृपा कर हमें कहें। ' 
 
मां भगवती ने अपने ही बत्तीस नामों की माला के एक अद्भुत गोपनीय रहस्यमय किंतु चमत्कारी जप का उपदेश दिया जिसके करने से घोर से घोर विपत्ति, राज्यभय या दारुण विपत्ति से ग्रस्त मनुष्य भी भयमुक्त एवं सुखी हो जाता है। मां दुर्गा को अपने यह 32 नाम अति प्रिय हैं। इन्हें सुनकर वे पुलकित हो जाती हैं। 
 
देहशुद्धि के बाद कुश या कम्बल के आसन पर बैठकर पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करके घी के दीपक के सामने इन नामों की 5/ 11/ 21 माला नौ दिन करनी है और जगत माता से अपनी मनोकामना पूर्ण करने की याचना करनी है।
 
मां दुर्गा के 32 नाम 
 
ॐ दुर्गा, 
दुर्गतिशमनी, 
दुर्गाद्विनिवारिणी, 
दुर्गमच्छेदनी, 
दुर्गसाधिनी, 
दुर्गनाशिनी, 
दुर्गतोद्धारिणी,
दुर्गनिहन्त्री 
दुर्गमापहा, 
दुर्गमज्ञानदा, 
दुर्गदैत्यलोकदवानला, 
दुर्गमा, 
दुर्गमालोका, 
दुर्गमात्मस्वरुपिणी, 
दुर्गमार्गप्रदा, 
दुर्गम विद्या, 
दुर्गमाश्रिता, 
दुर्गमज्ञान संस्थाना, 
दुर्गमध्यान भासिनी, 
दुर्गमोहा, दुर्गमगा, 
दुर्गमार्थस्वरुपिणी, 
दुर्गमासुर संहंत्रि, 
दुर्गमायुध धारिणी, 
दुर्गमांगी, 
दुर्गमता, 
दुर्गम्या, 
दुर्गमेश्वरी, 
दुर्गभीमा, 
दुर्गभामा, 
दुर्गमो, 
दुर्गोद्धारिणी। 


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दुर्गा अष्टमी : ऐसे होता है चंडी हवन, यह है सरल विधि