Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia

आज के शुभ मुहूर्त

(पंचमी तिथि)
  • तिथि- चैत्र शुक्ल पंचमी
  • शुभ समय-9:11 से 12:21, 1:56 से 3:32
  • व्रत/मुहूर्त- श्रीराम राज्य महोत्सव, श्रीपंचमी, निषादराज गुह्य ज.
  • यात्रा शकुन-इलायची खाकर यात्रा प्रारंभ करें।
  • राहुकाल- सायं 4:30 से 6:00 बजे तक
webdunia
Advertiesment

चैत्र नवरात्रि 2023 पर कैसे करें देवी माता की चौकी स्थापना, पढ़ें सबसे सरल पूजा विधि...

हमें फॉलो करें webdunia
चैत्र नवरात्रि में कैसे करें चौकी स्थापना
 
चैत्र नवरात्रि एक पवित्र हिन्दू पर्व है। इस पर्व की श्री शैलपुत्री, श्री ब्रह्मचारिणी, श्री चन्द्रघंटा, श्री  कूष्मांडा, श्री स्कंदमाता, श्री कात्यायनी, श्री कालरात्रि, श्री महागौरी, श्री सिद्धिदात्री- ये 9  देवियां हैं। चैत्र नवरात्रि में दुर्गा की घटस्थापना या कलश स्थापना के बाद देवी मां की चौकी स्थापित की जाती है तथा 9 दिनों तक इन देवियों का पूजन-अर्चन किया जाता है।
 
 आइए जानें चैत्र नवरात्रि में कैसे करें चौकी स्थापना  
 
* लकड़ी की एक चौकी को गंगाजल और शुद्ध जल से धोकर पवित्र करें। 
 
* साफ कपड़े से पोंछकर उस पर लाल कपड़ा बिछा दें। 
 
* इसे कलश के दाईं तरफ रखें। 
 
* चौकी पर मां दुर्गा की मूर्ति अथवा फ्रेमयुक्त फोटो रखें। 
 
* मां को चुनरी ओढ़ाएं। 
 
* धूप, दीपक आदि जलाएं। 
 
* 9 दिन तक जलने वाली माता की अखंड ज्योत जलाएं। 
 
* देवी मां को तिलक लगाएं। 
 
* मां दुर्गा को वस्त्र, चंदन, सुहाग के सामान यानी हल्दी, कुमकुम, सिन्दूर, अष्टगंध आदि अर्पित करें। 
 
* काजल लगाएं। 
 
* मंगलसूत्र, हरी चूड़ियां, फूल माला, इत्र, फल, मिठाई आदि अर्पित करें। 
 
* श्रद्धानुसार दुर्गा सप्तशती के पाठ, देवी मां के स्तोत्र, सहस्रनाम आदि का पाठ करें। 
 
* देवी मां की आरती करें। 
 
* पूजन के उपरांत वेदी पर बोए अनाज पर जल छिड़कें। 
 
* रोजाना देवी मां का पूजन करें तथा जौ वाले पात्र में जल का हल्का छिड़काव करें। जल बहुत अधिक या कम न छिड़कें। जल इतना हो कि जौ अंकुरित हो सके। ये अंकुरित जौ शुभ माने जाते हैं। यदि इनमें से किसी अंकुर का रंग सफेद हो तो उसे बहुत अच्छा माना जाता है। यह दुर्लभ होता है। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

डाक विभाग ने मंगल ग्रह मंदिर और संस्थान के लोगो को छापा एनवेलप पर