Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कर्तव्य पथ पर ‌बढ़ते प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी !

PM Narendra Modi Birthday: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर विशेष

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

विकास सिंह

शुक्रवार, 16 सितम्बर 2022 (13:03 IST)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपने जीवन के 72 वर्ष पूरे कर रहे है। खुद को देश की 130 करोड़ जनता का प्रधान सेवक कहने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार अपने ‘कर्तव्य पथ’ पर बढ़ते जा रहे है। 2014 में देश की बागडोर संभालने वाले  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज एक नए भारत का निर्माण हो रहा है। एक ऐसा भारत जो आधुनिकता के साथ अपनी सांस्कृतिक विरासत पर गर्व करता हुआ ‘आत्मनिर्भर भारत’ के निर्माण के पथ पर लगातार आगे बढ़ता जा रहा है।   
 
नरेंद्र मोदी के एक ऐसे प्रशासक के तौर पर जाने पहचाने जाते है, जो अपने संकल्पों के प्रति पूर्ण समर्पित है। राष्ट्रीय हितों के प्रति पूरी तरह संकल्पित और राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति ‘जीरो टॉलेरेंस’ की नीति पर चलने वाले नरेंद्र मोदी ने आतंक के खिलाफ लड़ाई में सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक जैसे फैसलों से अपनी नेतृत्व क्षमता से देश ही नहीं पूरा दुनिया को परिचय कराया। यह नरेद्र मोदी के मजबूत नेतृत्व की ही परिणाम है कि दुनिया के देशों ने आंतकी फंडिंग के खिलाफ कठोर कदम उठाए है और आज आतंक की कमत टूट चुकी है।  
 
2014 में प्रधानमंत्री बनने वाले नरेंद्र मोदी आज सामर्थ्यशाली, वैभवशाली नए भारत का निर्माण कर रहे है। देश और दुनिया में उनके नाम का डंका बज रहा है। दुनिया के उन मुल्कों में भी नरेन्द्र मोदी को एक नई पहचान मिली है जिनकी दिलचस्पी अब तक भारत में नहीं थी। आज दुनिया के राष्ट्राध्यक्षों की नजरें भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसलों पर टिकी होती है, आज वैश्विक मामले में दुनिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बातों को गौर से सुनता हैं।  
 
कर्तव्यपथ पर लगातर बढ़ रहे नरेंद्र मोदी एक अंखड भारत के निर्माण के संकल्प को भी साकार कर रहे है। लद्दाख व जम्मू कश्मीर को भारत की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए उन्होंने धारा 370 व 35-A को एक झटके में खत्म कर एक नया इतिहास रच दिया। अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद आज जम्मू-कश्मीर लोकतंत्र के महापर्व चुनाव की ओर बढ़ता दिख रहा है। 
 
रक्षा क्षेत्र में आज आत्मनिर्भर बनता भारत नरेंद्र मोदी की सोच और संकल्प का परिणाम है। नरेंद्र मोदी के ने आज भारतीय सेना के सशक्तिकरण के परिणाम स्वरूप देश की सीमाएं पूरी तरह सुरक्षित है। डोकलाम जैसे विवाद में भारत की जीत नरेंद्र मोदी की कूटनीति का ही परिणाम है।
 
नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार लगातार जनकल्याणकारी योजनाओं से देश के एक बड़े वर्ग को लाभान्वित करने का काम किया है। बतौर प्रधानमंत्री पिछले आठ साल में नरेंद्र मोदी ने अपने फैसलों से ही देश के हर वर्ग, हर धर्म, हर संप्रदाय में मोदी है तो मुमकिन है की एक विलक्षण उम्मीद जगाई है। 
 
आज जनता अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना हितैषी समझती है तो इसके एक नहीं कई कारण है। बात चाहे वैश्विक आपदा कोरोना से मुकाबले करने के लिए चलाए गए दुनिया का सबसे बड़े सफल वैक्सीनेशन अभियान की हो या अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास, मोदी जनता की हर उस नब्ज को अच्छी तरह से पकड़े हुए है, जो उनको आज भी भारतीय इतिहास का सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री के तौर पर स्थापित करती है। स्वच्छ भारत, आयुष्मान स्वास्थ्य योजना, किसान सम्मान निधि योजना, स्किल इंडिया कुछ ऐसी योजनाएं है जिन्होंने नरेंद्र मोदी को समाज के हर वर्ग में लोकप्रिय बनाया है। 

आलोचनाओं से भी नहीं घबराने वाले नरेंद्र मोदी की कई योजनाओं और फैसलों का विपक्ष के नेताओं व उनके आलोचकों ने जमकर मजाक बनाया लेकिन नरेंद्र मोदी अपने फैसलों पर अडिग रहे। यही कारण है कि आज देश में बदलाव की बयार बह रही है और जिसे हर क्षेत्र में महसूस किया जा रहा है। बीते 21 सालों से लगातार संवैधानिक पदों पर रहने वाले नरेंद्र मोदी आज ‘प्रधान सेवक’ के रूप में लगातार अपने ‘कर्तव्यपथ’ पर आगे बढ़ते  ही जा रहे हैं।
 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मोदी सरकार ने बदली 'छोटी कंपनी' की परिभाषा, क्या होगा असर?