काल भैरव अष्टमी 2019 कब है : पढ़ें भैरव आराधना के 5 दिव्य अमोघ मंत्र

जिंदगी में हर तरह के संकटों से मुक्ति के लिए भैरव आराधना का बहुत महत्व है। खास तौर पर काल भैरवाष्टमी के दिन भैरव के मंत्रों का प्रयोग कर व्यापार-व्यवसाय, शत्रु पक्ष से आने वाली परेशानियां, विघ्न, बाधाएं, कोर्ट कचहरी तथा निराशा आदि से मुक्ति पाई जा सकती है। इस बार काल भैरव अष्टमी 19 नवंबर 2019 को है। आइए जानते हैं भैरव के 5 अचूक मंत्र ... 
 
 
भैरव आराधना के खास मंत्र 
- 'ॐ कालभैरवाय नम:।'
- 2 ॐ भयहरणं च भैरव:।'
- 'ॐ ह्रीं बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरू कुरू बटुकाय ह्रीं।'
- 'ॐ हं षं नं गं कं सं खं महाकाल भैरवाय नम:।'
- 'ॐ भ्रां कालभैरवाय फट्‍।'
उक्त समस्त मंत्र चमत्कारिक रूप से सिद्धि प्रदान करते हैं। इनका प्रयोग अति शुद्धता से करना चाहिए। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख काल भैरव अष्टमी : भैरव की पूजा से कभी भय नहीं होता, जल्दी चाहिए सफलता तो जरूरी है इनकी आराधना