Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia

आज के शुभ मुहूर्त

(पापांकुशा एकादशी व्रत)
  • शुभ समय- 6:00 से 7:30, 12:20 से 3:30, 5:00 से 6:30 तक
  • राहुकाल-दोप. 1:30 से 3:00 बजे तक
  • व्रत/मुहूर्त-पापांकुशा एकादशी व्रत (सर्वे.)/पंचक प्रारंभ
  • एकादशी तिथि- 5 अक्टूबर, दोपहर 12:00 बजे से प्रारंभ शुरू तथा 6 अक्टूबर को सुबह 9:40 पर समापन।
  • पारण का समय- 7 अक्टूबर 2022, सुबह 6:17 से 7:26 तक।
  • बेसन से बनी मिठाई खाकर यात्रा पर निकलें।
webdunia

कोलकाता: कालीघाट की काली मां का मंदिर और दक्षिणेश्वरी काली मां

webdunia
असम और बंगाल माता दुर्गा के अधिकतर शक्तिपीठों का स्थान है। कोलकाता में कालीघाट स्थित कालीपीठ है जहां पर हुगली नदी के तट पर माता कालिका का प्रसिद्ध मंदिर है जिसे दक्षिणेश्वर काली मंदिर भी कहते हैं।
webdunia
मां काली के चार रूप है- दक्षिणा काली, शमशान काली, मातृ काली और महाकाली। पश्चिम बंगाल कोलकाता के कालीघाट में माता के बाएं पैर का अंगूठा गिरा था। इसकी शक्ति है कालिका और भैरव को नकुशील कहते हैं। इसे दक्षिणेश्वर काली मंदिर कहते हैं।
webdunia
दक्षिणेश्वर काली मन्दिर उत्तर कोलकाता में, बैरकपुर में, विवेकानन्द सेतु के कोलकाता छोर के निकट, हुगली नदी के किनारे स्थित है। इस मंदिर की मुख्य देवी, भवतारिणी है, जो हिन्दू देवी काली माता ही है।
webdunia
कालीपीठ कोलकता कालिका शक्तिपीठ: मां काली को देवी दुर्गा की दस महाविद्याओं में से एक माना जाता है। कुछ की मान्यता अनुसार कि इस स्थान पर सती देह की दाहिने पैर की चार अंगुलियां गिरी थी। इसलिए यह सती के 51 शक्तिपीठों में शामिल है।
webdunia
इस स्थान पर 1847 में जान बाजार की महारानी रासमणि ने मंदिर का निर्माण करवाया था। 25 एकड़ क्षेत्र में फैले इस मंदिर का निर्माण कार्य सन् 1855 पूरा हुआ। कोलकाता के उत्तर में विवेकानंद पुल के पास स्थित इस पूरे क्षेत्र को कालीघाट कहते हैं।