सीपी जोशी के बयान से बढ़ी कांग्रेस की मुश्किल, राहुल ने इस तरह दी सफाई

शुक्रवार, 23 नवंबर 2018 (11:38 IST)
नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय मंत्री उमा भारती के संदर्भ में पार्टी के वरिष्ठ नेता सीपी जोशी के कथित विवादित बयान को खारिज करते हुए शुक्रवार को कहा कि जोशी को खेद प्रकट करना चाहिए। उन्होंने जोशी के बयान को कांग्रेस के आदर्शों के विरुद्ध करार दिया।
 
गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'सीपी जोशी जी का बयान कांग्रेस पार्टी के आदर्शों के विपरीत है। पार्टी के नेता ऐसा कोई बयान न दें जिससे समाज के किसी भी वर्ग को दुःख पहुंचे।'
 
उन्होंने कहा, 'कांग्रेस के सिद्धांतों, कार्यकर्ताओं की भावना का आदर करते हुए जोशीजी को जरूर गलती का अहसास होगा। उन्हें अपने बयान पर खेद प्रकट करना चाहिए।' 
 
सोशल मीडिया एवं कुछ चैनलों पर प्रसारित वीडियो के मुताबिक जोशी प्रधानमंत्री मोदी एवं उमा भारती की जाति पर कथित तौर पर सवाल करते हुए कह रहे हैं कि धर्म पर केवल ब्राह्मण ही बात कर सकते हैं।
 
कहा जा रहा है कि जोशी ने यह बयान राजस्थान के नाथद्वारा में दिया है, जहां से वह विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं।
 
विवाद बढ़ने पर सीपी जोशी ने ट्वीट कर भाजपा पर उनके बयान को तोड़-मोड़कर पेश करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया है, वो इसकी कड़ी निंदा करते हैं।

बयान को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा खारिज किए जाने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता सीपी जोशी ने उस पर खेद जताया। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कराची में चीनी दूतावास के पास हमला, 2 सुरक्षाकर्मियों की मौत, 3 आतंकी ढेर