Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Weather Update : गुजरात में बाढ़-बारिश का डबल अटैक, IMD ने बताया- क्यों कहर बरपा रही है आसमानी आफत

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 24 अगस्त 2022 (17:49 IST)
इस साल गुजरात में मानसून में लगातार बारिश हो रही है। गुजरात में इस साल सीजन की 100 प्रतिशत बारिश हुई है। राज्य के 3 क्षेत्रों में 100 प्रतिशत से अधिक वर्षा दर्ज की गई, जिसमें कच्छ में सबसे अधिक 155.36 प्रतिशत वर्षा हुई। दूसरी ओर उत्तर-दक्षिण गुजरात में 100 प्रतिशत से अधिक बारिश हुई, जबकि मध्य-मौसम वर्षा 82.28 प्रतिशत दर्ज की गई। उत्तर गुजरात में पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक बारिश हुई है, जिसमें मेहसाणा में 8 इंच बारिश हुई है जबकि राज्य में अभी भी भारी बारिश का अनुमान है।
 
गुजरात में जुलाई 2022 की शुरुआत तक सूखे जैसी स्थिति का अनुभव किया, लेकिन जेट स्ट्रीम (जलधाराओं की तरह तेज़ गति से बहने वाली हवाएं) के लगातार बदलाव और मानसून की सक्रियता के कारण बाढ़ आई। आश्चर्य की बात यह है कि जिस राज्य में सूखे की स्थिति थी, वह आज बाढ़ का सामना कर रहा है।

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि हालांकि हाल के दशकों में हवाएं उत्तर की तरफ स्थानांतरित हो गई हैं, इसलिए भारत के मध्य-पश्चिमी क्षेत्र और अरब सागर के पूर्वोत्तर में बारिश में मौसमी बदलाव बढ़ा है। 
webdunia
उत्तरी गुजरात में एक बार फिर बारिश का मौसम शुरू हो गया है और यहां एक बार फिर तूफानी बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने इस साल राज्य में तेज बारिश के पीछे की वजह को लेकर अहम जानकारी दी है। 
 
मौसम विभाग के मुताबिक इस साल बंगाल की खाड़ी का संचलन उत्तर प्रदेश की और होने की जगह मध्य प्रांत की ओर होने से गुजरात में अच्छी बारिश हुई है। गुजरात में अभी भी बारिश की संभावना है। 8 सितंबर के आसपास एक हल्का चक्रवात आएगा,, जिसके कारण राज्य में बारिश भी होगी। इस बीच, राज्य के दक्षिणी हिस्से में बारिश की संभावना है। इसमें डांग और वलसाड शामिल हैं।
 
इसके अलावा राज्य के कुछ हिस्सों और सौराष्ट्र में भी चक्रवात के कारण छिटपुट बारिश हो सकती है। इसके अलावा, मौसम विभाग का कहना है कि पंचमहाल, वडोदरा, अहमदाबाद, मेहसाणा, सिद्धपुर, कड़ी, हारीज, सुरेंद्रनगर और राज्य के अन्य हिस्सों में बारिश की संभावना है। अगस्त के अंत में राज्य में 27 से 30 तारीख के बीच बारिश होने की संभावना है।
 
तीन दिनों के ब्रेक के बाद आज फिर से डीसा और पालनपुर में बारिश हुई, कुछ इलाकों में भारी बारिश हुई। राज्य में भारी बारिश के बाद बांध के गेट खोलकर नदियों में पानी छोड़ा जा रहा है, जिसमें नर्मदा, तापी और साबरमती में काफी पानी छोड़ा गया है। जिसमें बांध का जलस्तर नीचे आने के बाद फाटकों को भी बंद कर दिया गया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

T. Raja Singh : राजा सिंह पर भड़के ओवैसी, जमानत को लेकर दिया यह बयान...