Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मूसेवाला हत्याकांड: पंजाब पुलिस ने अब तक 8 को किया गिरफ्तार

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 7 जून 2022 (22:36 IST)
चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने मंगलवार को कहा कि पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के संबंध में पुलिस ने अब तक 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि आरोपियों को, गायक पर गोली चलाने वाले लोगों को रहने की जगह उपलब्ध कराने, टोह लेने (रेकी) और अन्य प्रकार की सुविधा मुहैया कराने के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है।
 
पुलिस ने यह भी कहा कि उन्होंने वारदात को अंजाम देने वाले 4 शूटर की भी पहचान की है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान हरियाणा में सिरसा निवासी संदीप सिंह उर्फ केकड़ा, बठिंडा के तलवंडी साबो निवासी मनप्रीत सिंह उर्फ मन्ना और ढैपई, फरीदकोट के रहने वाले मनप्रीत भाऊ के रूप में की गई है।
 
इसके अलावा अमृतसर के डोडे कलसिया गांव निवासी सराज मिंटू, हरियाणा में तखत मल के रहने वाले प्रभदीप सिद्धू उर्फ पब्बी, सोनीपत हरियाणा के रेवली गांव के रहने वाले मोनू डागर, हरियाणा में फतेहाबाद के निवासी पवन बिश्नोई और नसीब के रूप में की गई है।
 
पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने 29 मई को मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी। राज्य पुलिस ने इस हत्याकांड को गिरोहों के बीच की दुश्मनी का मामला करार दिया है। पुलिस का कहना है कि इसके पीछे लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का हाथ है।
 
बिश्नोई गिरोह के सदस्य और कनाडा में रहने वाले गोल्डी बराड़ ने हत्या की जिम्मेदारी ली है। पिछले साल अकाली दल के नेता विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या कर दी गई थी जिसके प्रतिशोधस्वरूप मूसेवाला की हत्या की गई। गैंगस्टररोधी कार्यबल के प्रमुख और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक प्रमोद बान ने कहा कि संदीप उर्फ केकड़ा ने गोल्डी बराड़ और सचिन थापन के निर्देश पर मूसेवाला का प्रशंसक बनकर उस पर नजर रखी थी।
 
बान ने कहा कि केकड़ा ने गायक के साथ सेल्फी भी खिंचवाई थी, जब मूसेवाला अपनी हत्या से कुछ मिनट पहले घर से निकल रहे थे। एडीजीपी बान ने कहा कि केकड़ा ने शूटर और विदेश में बैठे आकाओं से गायक के बारे में हर जानकारी साझा की थी, जैसे कि उसके साथ सुरक्षाकर्मी नहीं थे, वाहन में कितने लोग सवार थे, वाहन की जानकारी, वह एक महिंद्रा थार में सफर कर रहे थे, जो बुलेटप्रूफ नहीं थी, आदि।
 
एडीजीपी ने कहा कि मनप्रीत मन्ना ने सराज मिंटू के निर्देश पर मनप्रीत भाऊ को टोयोटा कोरोला कार मुहैया कराई थी जिसने बाद में कार उन लोगों को दी थी जिन पर शूटर होने का शक है। उन्होंने कहा कि मिंटू, गोल्डी बराड़ और सचिन थापन का नजदीकी सहयोगी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में पंचायत चुनाव ने पेश की मिसाल, समरस पंचायत बन विकास की खोली राह