Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आजम खान बोले, मैं भाजपा की राजनीतिक 'आइटम गर्ल'

webdunia
बुधवार, 24 अक्टूबर 2018 (17:45 IST)
बदायूं। अपने बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहने वाले समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय महासचिव आजम खां ने बुधवार को कहा कि वह भाजपा की राजनीतिक ‘आइटम गर्ल’ हैं। उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने उनके नाम पर उत्तर प्रदेश का पिछला विधानसभा चुनाव लड़ा था और अब उनके नाम पर ही आगामी लोकसभा चुनाव भी लड़ेगी।
 
भाजपा ने खां के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि उन्होंने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। 
 
मशवराती काउंसिल की विशेष बैठक में शामिल होने आये खां ने संवाददाताओं से बातचीत में खुद को भाजपा की ‘आइटम गर्ल’ बताया और कहा कि सारे चुनाव भाजपा मेरे नाम पर ही लड़ती रही है। पिछला विधानसभा चुनाव मेरे नाम पर लड़ा। अब लोकसभा चुनाव भी मेरे ही नाम पर लड़ेगी। मेरा तो यह हाल कर दिया है कि मुझे खुद नहीं पता कि मेरे ऊपर कितने मुकदमे दर्ज कर दिए गए हैं। मेरे नाम से कितने सम्मन और वारंट जारी कर दिए गए हैं, मैं तो बस उन्ही मुकदमों की पैरवी करता घूमता रहता हूं।
 
उन्होंने दावा किया कि उनके पास कोई सम्पति नहीं है। उनका सिर्फ एक बैंक खाता है जो विधान भवन में स्थित एसबीआई की शाखा में है। इसके सिवाय अगर देश के किसी भी बैंक में उनका कोई खाता मिल जाए तो उनको कुतुबमीनार पर फांसी दे दी जाए।
 
खां ने बताया कि मशवराती काउंसिल ने निर्णय लिया है कि फिरकापरस्त ताकतों को हराने के लिए दलितों, पिछड़ों और कमजोरों को एकजुट करना होगा, तभी इंकलाब आएगा। इसके लिए उन सभी मुद्दों से हटना होगा जिनको लेकर भाजपा देश मे आग लगाना चाहती है।
 
राम मंदिर मामले पर खां ने कहा कि उच्चतम न्यायालय देश की सर्वोच्च संस्था है। उसका आदेश सबसे ऊपर होना चाहिए। उन्होंने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जब छह दिसम्बर 1992 को बाबरी मस्जिद तोड़ी गई तब किसी मुस्लिम संगठन ने कोई विरोध नहीं किया। आप मन्दिर बनाइए। विरोध की चिंता छोड़िए। आपको जो करना है कीजिए मगर देश को गुमराह मत कीजिए।
 
इस बीच, प्रदेश भाजपा प्रवक्ता चंद्रमोहन ने कहा कि खां विक्षिप्त हो गए हैं। वह वोट बैंक, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण की जो राजनीति करते थे, उसके दिन जा चुके हैं। 
 
उन्होंने कहा कि खां ने जो अभद्र शब्द इस्तेमाल किया है, वह उनकी सोच को दर्शाता है। यही सोच सपा की है और ऐसे लोगों की है जो सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से जुड़े हुए हैं। (भाषा) 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IND vs WI : विराट कोहली का शानदार शतक, वेस्टइंडीज के सामने 322 रनों का विशाल लक्ष्य