Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जगुआर नहीं दिलाई, बेटे ने नदी में बहा दी 35 लाख की BMW कार

webdunia
शुक्रवार, 9 अगस्त 2019 (17:48 IST)
यमुनानगर (हरियाणा)। देश के कई हिस्सों में आई बाढ़ के कारण हाहाकार मचा हुआ है लेकिन बाढ़ की तीव्रता इतनी भी नहीं है कि वह अपने साथ लकड़ी, प्लास्टिक और अन्य कूड़ा-करकट के साथ लाखों रुपए की कीमत वाली महंगी कार भी बहा ले जाए। वह भी बीएमडब्ल्यू (BMW) जैसी कार! शुक्रवार को लोगों ने बीएमडब्यू कार को बहते हुए देखा जिसका वीडियो सुर्खियां बन गया।
 
असल में एक बिगड़ैल बेटे की यह करतूत सामने आई है। बेटे ने अपने पिता से जगुआर जैसी महंगी कार की मांग की थी। चूंकि जगुआर कंपनी की कार 40-50 लाख रुपए से शुरू होती है, लिहाजा पिता ने उसकी बात नहीं मानी। बिगड़ैल बेटे ने जगुआर कार नहीं दिलाने से नाराज होकर अपनी बीएमडब्ल्यू को पानी में बहा दिया।
 
लोगों ने जब बीएमडब्ल्यू कार को नहर के पानी में बहते हुए देखा तो वे भी दंग रह गए। यह कार बहते-बहते एक टापू में आकर फंस गई। इस नजारे को लोग मोबाइल में कैद करने लगे जबकि कुछ उत्साही उसका वीडियो बनाने में जुट गए। बाद में कुछ गोताखोरों को पानी में उतारा गया ताकि कार को रस्सी की मदद से किनारे लाया जा सके। फिलहाल यह कार दादुपुर हेड के पास पानी के टापू पर फंसी हुई है। पुलिस कार चालक को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी है।
 
लोगों को ताज्जुब यह हो रहा था कि बीएमडब्ल्यू कार जिसकी शुरुआती कीमत 30-35 लाख रुपए से शुरू होती है, वह पानी में बही कैसे? बाद में पता चला कि पापा से गुस्सा हुए बेटे ने यह 'करतूत' की है। असल में पंजाब और हरियाणा में प्रॉपर्टी का धंधा खूब फल-फूल रहा है और इस इलाके के युवा दोस्तों में रौब जमाने के इरादे से महंगी कार खरीदते हैं।
 
हरियाणा और पंजाब के युवा रईसजादों की पहली पसंद जगुआर और लेंबोर्गिनी जैसी कंपनी की कारें हुआ करती हैं। जिन बच्चों के पास इन कंपनियों की कारें नहीं होती हैं, वे अपने पिता से इन महंगी कारों की डिमांड करते हैं। जो सक्षम पिता होते हैं, वे तो अपने बेटे की चाहत पूरी कर देते हैं लेकिन कुछ बच्चे ऐसे जिद्दी होते हैं कि 30-35 लाख रुपए को पानी में बहाने से भी बाज नहीं आते हैं। (सांकेतिक तस्वीर) 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कमजोर ग्राहकी से सोना टूटा, चांदी भी हुई नरम