Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जहाज से टक्कर के बाद ब्रह्मपुत्र नदी में डूबी नाव, सवार थे 120 यात्री, 1 की मौत, 41 को बचाया, लापता की तलाश जारी

webdunia
बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (20:54 IST)
असम के जोरहाट जिले में ब्रह्मपुत्र नदी में निमती घाट के पास बुधवार को एक बड़ी निजी नौका सरकारी नाव से टकराने के बाद डूब गई, जिसमें कई लोगों के मारे जाने की आशंका है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 41 लोगों को बचा लिया गया है। जोरहाट के एडिशनल डीसी दामोदर बर्मन ने कहा कि बचाव कार्य जारी है। मीडिया खबरों के मुताबिक इस दुर्घटना में 1 महिला की मौत हो गई।
 
अधिकारियों ने बताया कि टक्कर तब हुई जब निजी नाव 'मा कमला' निमती घाट से माजुली की ओर जा रही थी और सरकारी स्वामित्व वाली नौका 'त्रिपकाई' माजुली से आ रही थी।
 
अंतर्देशीय जल परिवहन (आईडब्ल्यूटी) विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि 'मा कमला नाव पलटकर डूब गई। फिलहाल हमारे पास ज्यादा जानकारी नहीं है।' आईडब्ल्यूटी के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि नाव पर 120 से अधिक यात्री सवार थे, लेकिन उनमें से कई को विभाग के स्वामित्व वाली 'त्रिपकाई' नौका की मदद से बचा लिया गया। जोरहाट के उपायुक्त अशोक बर्मन ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि अब तक 41 लोगों को बचा लिया गया है और अभी तक कोई शव नहीं मिला है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने इस दुर्घटना पर दु:ख जताया है। 
 
जोरहाट जिला प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि 'हम अभी यह नहीं बता सकते कि कितने लोग मारे गए हैं।' राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और एसडीआरएफ के कर्मियों ने खोज एवं बचाव अभियान शुरू कर दिया है। नाव में कई चौपहिया और दोपहिया वाहन भी थे, जो नदी में गिर गए। 
 
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने दुर्घटना पर चिंता व्यक्त की और माजुली व जोरहाट के जिला प्रशासन को एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की मदद से बचाव अभियान में तेजी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने मंत्री बिमल बोरा को दुर्घटनास्थल पर जाने के लिए भी कहा।
सरमा ने मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव समीर कुमार सिन्हा को चौबीसों घंटे घटनाक्रम की निगरानी करने को कहा। सीएमओ ने एक बयान में कहा, 'मुख्यमंत्री खुद कल स्थिति का जायजा लेने के लिए निमती घाट जाएंगे।' (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महाराष्ट्र में बारिश का कहर, 31 लोगों की मौत