कुमारस्वामी ने छापों को राजनीति से प्रेरित बताया

गुरुवार, 28 मार्च 2019 (22:02 IST)
बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि मांड्या से उनके बेटे निखिल कुमारस्वामी और हसन से उनके भतीजे प्रज्वल रेवन्ना के चुनाव अभियान को देख रहे जद (एस) नेता के ठिकानों पर की गई छापेमारी राजनीति से प्रेरित है और कहा कि वे कांग्रेस नेताओं के साथ इसके खिलाफ बेंगलुरु में प्रदर्शन करेंगे।
 
इस छापेमारी से व्यथित कुमारस्वामी ने मैसुरू में बताया कि मैं बेंगलुरु में एक प्रदर्शन करने जा रहा हूं। पूरे राष्ट्र को देखने दीजिए कि कैसे आयकर विभाग का दुरुपयोग किया जा रहा है। ए छापे राजनीति से प्रेरित हैं। तड़के हुई छापेमारी की इस कार्रवाई पर कांग्रेस और जद (एस) नेताओं ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की है।
 
सबसे महत्वपूर्ण यह कि छापे उन लोगों के यहां मारे गए, जो गौड़ा परिवार से जुड़े 2 सदस्यों के चुनाव का काम देख रहे थे। इनमें राज्य के लघु सिंचाई मंत्री सीएस पुत्ताराजू और उनके भतीजे और मैसूरू में जिला पंचायत सदस्य अशोक हैं। निखिल कुमारस्वामी और प्रज्वल रेवन्ना पहली बार कुमारस्वामी और लोक निर्माण मंत्री एचडी रेवन्ना के संरक्षण में चुनावी रण में उतरे हैं।
 
बुधवार रात ही छापों की भविष्यवाणी करने की बात दोहराते हुए कुमारस्वामी ने कहा कि पहली बार आयकर अधिकारियों ने सरकारी दफ्तरों में भी छापेमारी की जिनमें हासन में पीडब्ल्यूडी दफ्तर और कनकापुरा में तहसीलदार कार्यालय भी शामिल है।
 
आयकर विभाग के प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त (कर्नाटक गोवा क्षेत्र) बीआर बालाकृष्णन पर राजनीतिक एजेंट की तरह काम करने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सेवानिवृत्ति के बाद उनकी नजर राज्यपाल का पद हासिल करने पर है।
 
उन्होंने कहा कि भाजपा के एक नेता ने लोगों की सूची अमित शाह को भेजी है जिन्होंने छापेमारी की कार्रवाई के लिए इसे बालाकृष्णन को भेज दिया। बालाकृष्णन भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। ऐसा लगता है कि वे सेवानिवृत्ति के बाद किसी राज्य के राज्यपाल जैसा कोई पद चाहते हैं। कुमारस्वामी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा से पूछा कि क्या वे रुपए के बिना चुनाव जीत सकते हैं?
 
इन छापों से रेवन्ना घबराए नहीं और हासन में बात करते हुए उन्होंने कहा कि जब तक मेरे साथ श्रृंगेरी शारदंबा और शंकराचार्य का आशीर्वाद है, कुछ नहीं होगा। कोई भी जो मेरे खिलाफ साजिश कर रहा है या काले जादू की कोशिश कर रहा है, वो बर्बाद हो जाएगा। मैं पूरी तरह सुरक्षित हूं।
 
पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता सिद्धारमैया ने कहा कि भाजपा को अगर लगता है कि धमकाने के इन हथकंडों से वे चुनाव जीत पाएंगे तो वे गलत पूर्वानुमान लगाए हुए हैं। येदियुरप्पा ने हालांकि इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि आयकर विभाग अपना काम कर रहा है और इसे राजनीति से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख लोकसभा चुनाव 2019 : पीएम मोदी को दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल से चुनाव लड़ाने की मांग