Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बारिश ने बिगाड़ी मुंबई की सूरत, सड़कें लबालब, कई जगह ट्रैफिक जाम (देखें फोटो)

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 19 जुलाई 2021 (19:43 IST)
मुंबई। मुंबई में भारी बारिश के एक दिन बाद सोमवार सुबह बारिश की तीव्रता कुछ कम हुई, लेकिन दिन में फिर से तेज हो गई, जिससे कुछ स्थानों पर जलभराव हो गया और मध्य रेलवे मार्ग पर लोकल ट्रेन सेवाएं बाधित हुईं। कई स्थानों पर सड़कों पर पानी भरने से यातायात जाम हो गया। 
 
रविवार को महानगर में बारिश से संबंधित घटनाओं में 30 लोगों की मौत हो गई थी, जिसमें चेंबूर के माहुल इलाके में 19 लोगों की मौत शामिल है, जहां भूस्खलन के बाद कुछ घरों पर एक दीवार गिर गई। बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार को किसी और व्यक्ति की मौत की सूचना नहीं है।
webdunia

हालांकि, सुबह वर्षा की तीव्रता कुछ समय के लिए कम हुई, लेकिन बाद में दिन के दौरान बारिश फिर से तेज हो गई जिससे कुछ क्षेत्रों में जलभराव हो गया।
webdunia

मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने बताया कि पड़ोसी ठाणे जिले के कलवा और मुंब्रा स्टेशनों के बीच पटरियों पर पानी भर जाने के कारण सोमवार अपराह्न करीब तीन बजे मध्य रेलवे की ‘स्लो लाइन’ पर लोकल ट्रेन सेवाएं करीब आधे घंटे के लिए रोक दी गईं। उन्होंने बताया कि बाद में अपराह्न तीन बजकर 35 मिनट पर स्लो कॉरिडोर पर सेवाएं बहाल कर दी गईं।
 
सुतार ने कहा कि इससे पहले दिन में उपनगरों के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के बाद विक्रोली और भांडुप रेल खंड के बीच जलजमाव हो गया था। उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर पूर्वाह्न 10.35 बजे से 10.50 बजे तक मुख्य लाइन के उस खंड में उपनगरीय ट्रेन सेवाएं निलंबित कर दी गईं। रेलवे सूत्रों ने कहा कि ठाणे में स्टेशन यार्ड भी जलमग्न हो गया और परिणामस्वरूप ट्रेनें धीमी गति से चल रही थीं।
webdunia

एक रेल कार्यकर्ता ने कहा कि विक्रोली और भांडुप खंड के साथ-साथ ठाणे स्टेशन पर जलजमाव के कारण मध्य रेलवे की उपनगरीय ट्रेन की समय सारिणी गड़बड़ा गई। कुछ यात्रियों ने कहा कि भायखला से सीएसएमटी के बीच की दूरी तय करने में ट्रेनों को कम से कम 30 मिनट का समय लग रहा था, जैसा कि सामान्य समय में 10-12 मिनट लगता है।
 
कोविड-19 महामारी से पहले, मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे दोनों 3,000 से अधिक उपनगरीय ट्रेन सेवाओं में एक दिन में 75 लाख से अधिक यात्रियों को ट्रेन सेवाएं मुहैया कराते थे, जो अब केवल आपातकालीन सेवाओं के कर्मचारियों और सरकारी कर्मचारियों के लिए संचालित की जा रही हैं।
 
सुतार ने कहा कि मुंबई से करीब 130 किलोमीटर दूर स्थित कसारा घाट खंड में सोमवार तड़के तीन रेल लाइनों में से एक पर भूस्खलन हुआ। इसके चलते डाउन लाइन पर ही यातायात प्रभावित हुआ, लेकिन मध्य रेलवे के अनुसार ट्रेनें मध्य और अप लाइन पर चल रही थीं।
webdunia

बीएमसी के एक अधिकारी ने कहा कि मुंबई के पूर्वी उपनगरों में सोमवार को सुबह 8 बजे समाप्त हुए 24 घंटे की अवधि में 90.65 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि शहर में 48.88 मिमी बारिश और पश्चिमी उपनगरों में 51.89 मिमी बारिश हुई।
 
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार दोपहर को मुंबई और कोंकण क्षेत्र के अन्य जिलों के लिए 'रेड अलर्ट' जारी किया और अगले 24 घंटों में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश की भविष्यवाणी की। अधिकारियों के अनुसार, बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (बेस्ट) की बस सेवाएं उपनगरों में कुछ स्थानों को छोड़कर सामान्य चल रही हैं।
 
रविवार शाम को, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों द्वारा तैयारियों का जायजा लिया। ठाकरे ने एजेंसियों को अधिक सतर्क रहने का निर्देश दिया था और अधिकारियों से भूस्खलन संभावित क्षेत्रों और जर्जर इमारतों पर नजर रखने को कहा था।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

जिस बुरे वक्‍त में ‘मानव सेवा’ करना थी, तब अस्‍पतालों ने उद्योग घरानों की तरह ‘धन कमाया’