Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का विस्तार आज, 4 नए मंत्री हो सकते हैं शामिल

webdunia
मंगलवार, 28 जनवरी 2020 (08:42 IST)
रांची। झारखंड में हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का मंगलवार को विस्तार किया जाएगा और 4 नए मंत्रियों को राजभवन में अपराह्न 4 बजे आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में शपथ दिलाई जाएगी।
समझा जाता है कि झाविमो से सत्ताधारी गठबंधन में आने वाले विधायकों एवं अन्य आकांक्षी लोगों के लिए 1 मंत्री पद रिक्त रखा गया है। झारखंड राजभवन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से भेंट कर उनसे अपने मंत्रिमंडल के विस्तार के लिए समय मांगा।
 
राजभवन सूत्रों ने बताया कि राज्यपाल ने मंगलवार अपराह्न 4 बजे नए मंत्रियों के शपथ ग्रहण का समय निर्धारित किया है। शपथ ग्रहण का कार्यक्रम राजभवन के बिरसा मंडप में आयोजित होगा।
 
उन्होंने बताया कि मंगलवार को कुल 4 नए मंत्री शपथ लेंगे जिन्हें मिलाकर राज्य मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को मिलाकर कुल 11 मंत्री हो जाएंगे, जो संविधान के अनुसार झारखंड में मंत्रियों की अधिकतम संभव संख्या से 1 कम होगी। यहां कुल 82 विधायकों की विधानसभा है और अधिकतम 12 मंत्री बनाए जा सकते हैं।
 
उन्होंने बताया कि सोमवार को कांग्रेस कोटे से 2 और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कोटे से 5 मंत्री शपथ लेंगे। इससे 11 सदस्यीय मंत्रिमंडल में कांग्रेस के 4, झामुमो के मुख्यमंत्री समेत 6 और राजद के 1 मंत्री हो जाएंगे।
 
मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडल में 1 पद रिक्त रखा है। समझा जाता है कि झारखंड विकास मोर्चा से सत्ताधारी गठबंधन में शामिल होने के प्रयास में जुटे तिर्की बंधु और प्रदीप यादव तथा कुछ असंतुष्ट विधायकों के लिए 1 पद खाली रखा गया है।
 
इससे पहले मुख्यमंत्री और उनके साथ कांग्रेस के 2 एवं राजद के 1 विधायक ने मोराबादी मैदान में 29 दिसंबर को भव्य समारोह में शपथ ग्रहण किया था। इसके बाद 24 जनवरी को मंत्रिमंडल के विस्तार का कार्यक्रम रखा गया था जिसे चाईबासा में 4 आदिवासियों की हत्या के बाद मुख्यमंत्री के अनुरोध पर स्थगित कर दिया गया था। हाल के चुनावों में भाजपा को मात देकर हेमंत सोरेन राज्य के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अनुराग ठाकुर को महंगा पड़ा बयान, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट