जानिए हेमंत सोरेन ने क्यों कहा, गिफ्ट में बुके नहीं, बुक लेंगे

शनिवार, 4 जनवरी 2020 (14:59 IST)
रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लोगों से कहा है कि उन्हें गिफ्ट में बुके के स्थान पर किताबें दें। सोरेने के इस फैसले को मोदी से जोड़कर भी देखा जा रहा है। पीएम मोदी ने अपील की थी कि शुभकामना के रूप में बुके देने के बजाय पुस्तक भेंट करें, क्योंकि पढ़ने से ज्यादा आनंद किसी और काम में नहीं आता और ज्ञान से बड़ी कोई ताकत नहीं है।
 
सोरेन ने कहा कि हां मैंने यह फैसला किया है क्योंकि लोग मुझे बुके देते हैं जो कि महंगे होते हैं। मैंने यह फैसला इसलिए किया है ताकि में एक लाइब्रेरी बना सकूं और लोगों को इसका फायदा मिल सके। 
 
हेमंत सोरेन की इस बात को सोशल मीडिया पर लोगों ने सराहा। निलाभ त्रिपाठी ने ट्विटर पर कमेंट किया, ऐसे लोग सच में हैं? अगर ऐसा हो तो कैसा रहेगा।   
 
हालांकि उनकी यह सलाह कुछ लोगों को रास नहीं आई। दिवेश सिंह ने ट्वीट किया, मोदीजी भी इस तरह के आइडिया के साथ आए थे पर उनके अन्य प्रयोगों की तरह यह भी असफल रहा। मयूर सेजपाल ने ट्वीट कर कहा कि बुक हो या बुके ये लोग सब कुछ कचरे में फेंकते हैं। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बेहद खतरनाक है सुलेमानी पर मिसाइल बरसाने वाला अमेरिकी ड्रोन रीपर, 15 किमी ऊपर से बनाया निशाना...