Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हनीट्रैप मामले में पुलिस ने 5 महिलाओं सहित 6 लोगों को किया गिरफ्तार

webdunia
शुक्रवार, 20 सितम्बर 2019 (00:37 IST)
भोपाल/इन्दौर। इन्दौर नगर निगम के एक अधिकारी की शिकायत पर मध्यप्रदेश पुलिस ने मोहपाश (हनीट्रैप) के आरोप में 5 महिलाओं और उनके वाहन चालक को गिरफ्तार किया है। उधर, गिरफ्तारी के बाद सभी 6 आरोपियों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें 3 दिन की पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया।
 
इन्दौर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रूचिवर्धन मिश्र ने बताया कि गिरफ्तार महिलाओं में आरती दयाल (29), मोनिका यादव (18), श्वेता जैन पति विजय जैन (39), श्वेता जैन पति स्पनिल जैन (48), और बरखा सोनी (34) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इन्हें भादवि की धारा 405/19, धारा 419, 420, 384, 506, 120-बी एवं 34 के तहत गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा इनके एक वाहन चालक ओमप्रकाश कोरी (45) को भी गिरफ्तार किया गया है। 
 
एसएसपी ने बताया कि आरोपियों के पास से पुलिस ने 14 लाख 17 हजार रुपए नगद व मोबाइल फोन और एक एसयूवी बरामद की है।

उन्होंने बताया कि इन्दौर नगर निगम के एक अधिकारी की शिकायत पर पहले आरती, मोनिका और उनके वाहन चालक को इन्दौर में गिरफ्तार किया गया था। इनसे पूछताछ के बाद भोपाल की पॉश कालोनियों से 3 अन्य आरोपी महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी भोपाल निवासी हैं। 
 
एसएसपी ने आरोपी आरती के हवाले से बताया कि उसकी साथी श्वेता जैन ने उसे करीब 8 माह पहले इन्दौर नगर निगम के अधिकारी से मिलवाया था। इसके बाद दोनों में फोन पर बातचीत तथा मुलाकात शुरु हो गई। एक मुलाकात के दौरान आरोपी महिलाओं ने छिपकर एक वीडियो क्लिप बना ली तथा भोपाल पहुंचने के बाद अधिकारी से 3 करोड़ रुपए की मांग की। 
 
मिश्रा ने बताया कि अधिकारी की शिकायत के बाद पुलिस ने योजना बनाई और पहली किस्त के तौर पर 50 लाख लेने इन्दौर आई आरती, मोनिका और उनके वाहन चालक को गिरफ्तार किया। इसके बाद अन्य आरोपियों को पकड़ा गया। एसएसपी ने बताया कि पुलिस मामले में विस्तृत जांच कर रही है। 
 
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमेरेन्द्र सिंह ने बताया कि सभी 6 आरोपियों को गुरुवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें तीन दिन की पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया। वहीं प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा कि पुलिस इस मामले में जांच कर रही है और कोई भी व्यक्ति जो कानून को हाथ में लेने का काम करेगा वह बच नहीं पाएगा। (भाषा) 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Pro Kabaddi लीग के 97वें मैच में बंगाल की हरियाणा पर पहली ऐतिहासिक जीत