लेना चाहते हैं जिंदा समाधि, अब सताया जान का खतरा

विकास सिंह

शनिवार, 15 जून 2019 (21:11 IST)
भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री और भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रहे दिग्विजय सिंह के चुनाव हारने पर 16 जून यानी रविवार को जल समाधि लेने का ऐलान करने वाले पूर्व महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद महाराज (मिर्ची बाबा) रविवार की सुबह भोपाल पहुंचेंगे।
 
समाधि के लिए गुरुवार को भोपाल कलेक्टर से अनुमति मांगने वाले मिर्ची बाबा को अब अपनी सुरक्षा का डर सता रहा है। वैराग्यानंद बाबा के वकील सैयद माजिद अली की तरफ से शनिवार को भोपाल कलेक्टर को एक आवेदन देकर बताया गया है कि बाबा सुबह 7.30 बजे विमान से राजा भोज एयरपोर्ट पहुंचेंगे। इसके बाद दर्शन करने के लिए भोजपुर जाएंगे, जहां वे शिव मंदिर मे पूजा-अर्चना करेंगे। इसके बाद दोपहर 12 बजे भोपाल कलेक्टर से मिलकर समाधि का निर्णय लेंगे।
 
कलेक्टर को दिए आवेदन में लिखा गया है कि 'स्वामीजी के साथ कोई अप्रिय घटना न घट जाए इसके लिए विमान तल से भोजपुर और भोजपुर से कलेक्टर कार्यालय तक सुरक्षा के इंतजाम किए जाएं'। 
 
'वेबदुनिया' से बातचीत में बाबा के वकील माजिद ने कहा कि चूंकि स्वामी वैराग्यानंद को पिछले काफी समय से मैसेज और फोन कॉल के जरिए कई तरह की धमकी दी गई इसलिए रविवार को जब स्वामीजी भोपाल आ रहे हैं तो शांति बनी रहे और उनकी जान-माल को कोई खतरा नहीं हो इसलिए कलेक्टर से सुरक्षा मांगी गई है। वकील का कहना है कि मुवक्किल स्वामी वैराग्यानंद पूरे मामले को जिस तरह से राजनीतिक रंग दिया गया, उससे वे दु:खी हैं।  
क्या है पूरा मामला? : लोकसभा चुनाव में स्वामी वैराग्यानंद महाराज ने भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह की जीत की भविष्यवाणी की थी। चुनाव के समय बाबा ने दिग्विजय सिंह की जीत के लिए मिर्ची यज्ञ करते हुए दावा किया था कि अगर दिग्विजय सिंह चुनाव नहीं जीतते है तो वे समाधि ले लेंगे।
 
23 मई को जब चुनाव परिणाम आने के बाद जब दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव हार गए तो बाबा भी गायब हो गए। इसके बाद बाबा को लेकर सोशल मीडिया पर खूब तंज कसे गए।
 
इस बीच स्वामी वैराग्यानंद के साथ बातचीत का एक ऑडियो भी वायरल हुआ जिसमें उनसे कथित तौर पर समाधि लेने को लेकर सवाल पूछे गए थे। इसके बाद लंबे समय तक गायब रहने के बाद अचानक से गुरुवार यानी 13 जून को स्वामी वैराग्यानंद की तरफ से उनके वकील माजिद अली ने भोपाल कलेक्टर को एक आवेदन दिया जिसमें बताया गया कि बाबा 16 जून को मूहूर्त के हिसाब से दोपहर 2 बजकर 11 मिनट पर जल समाधि लेंगे।
 
आवेदन में भोपाल कलेक्टर से जल समाधि लेने के लिए अनुमति मांगी गई है, वहीं समाधि लेने की अनुमति के आवेदन को खारिज करते हुए भोपाल कलेक्टर ने डीआईजी भोपाल को स्वामी वैग्यानंद के जान-माल की सुरक्षा के लिए आवश्यक कार्रवाई करने की बात कही है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मध्यप्रदेश में विदेशी कंपनियां बनाएंगी 300 स्मार्ट गोशालाएं