Weather Updates: उत्तर बंगाल में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित, तीस्ता नहर से पर्यटक का शव बरामद

शनिवार, 13 जुलाई 2019 (21:20 IST)
कोलकाता/ जलपाईगुड़ी। उत्तर बंगाल में पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश ने निचले इलाकों में बाढ़ और पर्वतीय इलाकों में भूस्खलन की स्थितियां उत्पन्न कर सामान्य जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है।
 
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि लापता हुए एक पर्यटक का शव जलपाईगुड़ी जिले के गजालदोबा से बरामद किया गया। मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल के 5 उप हिमालयी जिलों- दार्जीलिंग, कलिमपोंग, जलपाईगुड़ी, कूचबिहार और अलीपुरद्वार में रविवार तक भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताया है।
 
रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि इस बीच न्यू जलपाईगुड़ी और अलीपुरद्वार के बीच यात्री ट्रेन सेवाएं शनिवार से शुरू हो गईं तथा ट्रेन सेवाएं बुधवार तक निलंबित कर दी गई थीं और सभी ट्रेनों का मार्ग कूचबिहार मार्ग से परिवर्तित कर दिया गया।
 
साथ ही उन्होंने कहा कि तीस्ता, दियाना, लिश, घिश, राइदक, कालजनी, संकोष और जलढाका नदियों में पानी का स्तर बढ़ जाने के कारण ऐसा किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्गों 31 और 10 पर शनिवार को यातायात बहाल हो गया।
 
निरंतर वर्षा के कारण हुए भूस्खलनों के चलते उत्तर बंगाल का सिक्किम और दोआर क्षेत्र का पिछले कुछ दिनों से सिलीगुड़ी के साथ संपर्क टूट गया है। माल बाजार, मोयनगरी और धुपगुरी कस्बों के कई इलाके जलमग्न हो गए।
 
एक अधिकारी ने बताया कि मंगलवार से पर्वतीय इलाकों में कम से कम 35 छोटे से बड़े भूस्खलन की खबरें आई हैं। नदियों में पानी का स्तर बढ़ जाने और निचले इलाकों में बाढ़ आने के मद्देनजर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है, वहीं राजस्थान के 3 पर्यटक और चालक सहित उनका वाहन 10 जुलाई को तीस्ता नदी में गिर गए थे।
 
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि लापता हुए 4 व्यक्तियों में से 3 अब भी लापता हैं। इनमें से 1 पर्यटक का शव तीस्ता नहर में बरामद किया गया। मृतक की पहचान राजस्थान निवासी अमन गर्ग के रूप में की गई है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख मुख्यमंत्री कमलनाथ के कंधों पर अब कर्नाटक में सरकार बचाने की जिम्मेदारी