PMC बैंक घोटाला : हार्टअटैक से 2 लोगों की मौत के बाद 39 साल की डॉक्टर ने की आत्महत्या

बुधवार, 16 अक्टूबर 2019 (00:23 IST)
मुम्बई। घोटाले में घिरे पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक (PMC) में 2 खाताधारकों फट्टोमल पंजाबी और संजय गुलाटी की हार्टअटैक से मौत के बाद 39 वर्षीय एक डॉक्टर ने यहां वरसोवा इलाके में अपने घर में कथित रूप से आत्महत्या कर ली। पता चला है कि निवेदिता के पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक में 1 करोड़ रुपए जमा थे। पिछले 24 घंटे में 3 मौतें हो चुकीं हैं। 
 
हालांकि एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस को नहीं लगता कि इस आत्महत्या का संबंध पीएमसी बैंक के संकट और हजारों जमाकर्ताओं पर आई वित्तीय परेशानी से है। कई लोग तो अपने बच्चों की फीस नहीं भर पा रहे हैं तो कई लोग अपने बीमार परिजनों का समुचित उपचार नहीं कर पा रहे हैं। 
 
4,355 करोड़ रुपए का नुकसान : पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक के कुछ अधिकारियों पर फर्जी तरीके से ऋण वितरित करने के लिए निजी कंपनी एचडीआईएल के साथ साठगांठ करने का आरोप है जिससे बैंक को 4,355 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ और हजारों निवेशक पैसे निकाल पाने में असमर्थ हो गए एवं उनकी बचत खतरे में आ गई।
 
निवेदिता ने खाई नींद की अधिक गोलियां : अधिकारी ने बताया कि वरसोवा के मॉडल टाउन इलाके में अपने पिता के साथ रह रही डॉक्टर निवेदिता बिजलानी (39) ने सोमवार रात को नींद की अधिक गोलियां खा लीं। उन्होंने कहा, आत्महत्या की वजह का पता लगाया जाना अभी बाकी है। उसका पीएमसी बैंक में खाता तो था लेकिन हमें नहीं लगता कि मौत का संबंध बैंक के संकट से है। 
 
अमेरिका में भी आत्महत्या की कोशिश : पुलिस अधिकारी के अनुसार निवेदिता बिजलानी पिछले कुछ वर्षों से अवसादग्रस्त थीं और उसने पिछले साल मार्च में अमेरिका में खुदकुशी करने की कथित तौर पर कोशिश की थी।
 
दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज : पुलिस अधिकारी के अनुसार वह अमेरिका में प्रैक्टिस कर रही थीं। पहली शादी से उनकी 17 साल की बेटी हैं जबकि एक अमेरिकी नागरिक से दूसरी शादी से उनका डेढ़ साल का बेटा है। अधिकारी के मुताबिक वरसोवा थाने में दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज किया गया है।
 
रिजर्व बैंक का प्रतिबंध : उल्लेखनीय है कि 24 सितंबर को भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटिस जारी कर पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक पर 6 महीनों के लिए लेनदेन समेत कई तरह का प्रतिबंध लगा दिया था जिसके मुताबिक न तो बैंक कोई नया लोन जारी करेगा और न ही इसका कोई ग्राहक 25,000 रुपए से अधिक की निकासी कर सकता था।
 
तीसरी बार निकासी सीमा बढ़ाकर 40 हजार रुपए की : भारतीय रिजर्व बैंक ने लोगों की परेशानी को देखते हुए 3 अक्टूबर को बैंक से निकासी की सीमा को 10 हजार से बढ़ाकर 25 हजार रुपए कर दी थी लेकिन जब मामले ने तूल पकड़ा तो अब इसे बढ़ाकर 40 हजार रुपए किया गया है। यानी अब पीएमसी बैंक से ग्राहक एक बार में 40 हजार रुपए अपने खाते से निकाल सकते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख लांच हुआ गूगल का Pixel 4, जानिए इस स्मार्टफोन से जुड़ी 7 खास बातें...