कोहरा बना कालदूत, राजस्थान में सड़क हादसों में 11 की मौत, 28 घायल

सोमवार, 18 नवंबर 2019 (15:47 IST)
बीकानेर। राजस्थान में बीकानेर जिले के सेरुणा थाना क्षेत्र में सोमवार को एक बस और ट्रक की टक्कर से 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 28 लोग घायल हो गए।
 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि सुबह करीब 7 बजे राष्ट्रीय राजमार्ग 11 पर झंझेऊं गांव के पास विपरीत दिशा से आ रहे ट्रक से एक निजी स्लीपर बस कोहरे के चलते टकरा गई। आमने-सामने की इस टक्कर से बस में आग लग गई। इससे 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 28 लोग घायल हो गए। मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने ट्यूबवेल से पाइप की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास किया।
 
पुलिस ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दमकल को बुलाकर आग पर काबू पाया। घायलों को ग्रामीणों की मदद से बस से निकालकर बीकानेर के पीबीएम अस्पताल भेजा गया। घायलों में 17 को भर्ती किया गया है। इनमें कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है। 
 
बीकानेर में हादसे की शिकार बस प्रतिबंधित थी : राजस्थान में बीकानेर जिले के सेरुणा थाना क्षेत्र में सोमवार सुबह हादसे की शिकार हुई बस पर सीकर के परिवहन अधिकारी ने चालान जमा न करने पर सड़क पर चलाने पर रोक लगा दी थी।
 
सूत्रों ने बताया कि जिस बस की ट्रक के साथ टक्कर हुई, उसे सीकर के परिवहन विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर चालान जमा नहीं कराने पर 28 अगस्त और 7 सितंबर को प्रतिबंधित करना दर्शाया गया है। बीकानेर के जिला परिवहन अधिकारी जुगल किशोर माथुर ने बताया कि सीकर के परिवहन अधिकारी ने बस का चालान जमा नहीं करवाने पर इसे सड़क पर चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया था। बस को परमिट दिया गया था, क्योंकि इसका फिटनेस सर्टिफिकेट 25 जुलाई 2021 तक मान्य है।
 
उल्लेखनीय है कि सोमवार को बस और ट्रक की टक्कर में 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 28 घायल हो गए। इनमें 17 का बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि अब तक 9 मृतकों की शिनाख्त हुई है। इनमें फतेहपुर (सीकर) के ओमसिंह (21), रायसर निवासी भेरुसिंह, बीकानेर के अरुण कुमार, राजलदेसर की नववेक्षा, छत्तीसगढ़ की काजल और ललित, अलवर की माया कंवर, अनिता और राजू मीणा हैं।
 
घायलों की स्थिति जानने पुलिस अधीक्षक प्रदीप मोहन शर्मा, एडीएम सिटी सुनीता चौधरी, एडीएम प्रशासन एएच गौरी, प्रशिक्षु आईएएस रिया केजरीवाल, मेडिकल कॉलेज प्रिंसीपल एचएस कुमार सहित कई अधिकारी अस्पताल पहुंच गए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख जेएनयू विवाद समाधान के लिए वीएस चौहान की अगुवाई में उच्च स्तरीय समिति गठित