Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सचिन वाजे की महंगी SUV जब्त, 2 आरोपियों की हिरासत 7 अप्रैल तक बढ़ी

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
मंगलवार, 30 मार्च 2021 (19:03 IST)
मुंबई। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मुंबई के गिरफ्तार पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के नाम पंजीकृत एक महंगी कार मंगलवार को नवी मुंबई से जब्त की। एक अधिकारी के मुताबिक जांच टीम पिछले कई दिनों से एक मित्सुबिशी आउटलैंडर एसयूवी (स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल) की तलाश कर रही थी।
 
एनआईए उद्योगपति मुकेश अंबानी के दक्षिण मुंबई स्थित आवास एंटीलिया के बाहर पिछले महीने एक वाहन (स्कॉर्पियो) खड़ा पाए जाने और इसके बाद वाहन के कथित मालिक मनसुख हिरेन के मृत पाए जाने से जुड़े मामलों की जांच कर रही है। अंबानी के आवास के बाहर खड़े वाहन में विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी।
 
अधिकारियों ने बताया कि एक सूचना मिलने पर एनआईए अधिकारियों की एक टीम नवी मुंबई के कामोठ इलाके में गई और एक एसयूवी बरामद की, जो सेक्टर-7 में एक हाउसिंग सोसाइटी के बाहर खड़ी थी। उन्होंने बताया कि कार की नंबर प्लेट से प्रदर्शित होता है कि यह एपीआई सचिन वाजे के नाम पंजीकृत है।
 
एनआईए को संदेह है कि एसयूवी को एक पुलिस अधिकारी ले कर आए होंगे, जो वाजे के सहकर्मी हैं। इससे पहले, एनआईए ने कम से कम 8 महंगी कारें जब्त की हैं, जिनका वाजे ने कथित तौर पर इस्तेमाल किया था।
 
2 आरोपी 7 अप्रैल तक हिरासत में : कारोबारी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में यहां एक विशेष अदालत ने मंगलवार को एक निलंबित पुलिसकर्मी और एक सटोरिए की एनआईए हिरासत 7 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी। दक्षिणी मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर 25 फरवरी को मिली विस्फोटक सामग्री युक्त एसयूवी मनसुख से संबंधित थी। ठाणे निवासी हिरेन का शव 5 मार्च को ठाणे के मुंब्रा क्रीक में मिला था।
 
महाराष्ट्र के आतंकवादरोधी दस्ते ने इस मामले में इस महीने के शुरू में निलंबित कांस्टेबल विनायक शिन्दे तथा क्रिकेट सटोरिए नरेश गौर को गिरफ्तार किया था। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने इन दोनों को पिछले सप्ताह अपनी हिरासत में ले लिया था। इन लोगों को मंगलवार को विशेष एनआईए न्यायाधीश पीआर सित्रे की अदालत में पेश किया गया, जिसने मामले में आगे की जांच के लिए दोनों की एनआईए हिरासत 7 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दी।
 
शुरुआत में, महाराष्ट्र के आतंकवाद रोधी दस्ते (ATS) ने इस मामले की जांच की थी, लेकिन बाद में एनआईए ने इसे अपने हाथों में ले लिया। एनआईए अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक सामग्री युक्त एसयूवी मिलने के मामले की भी जांच कर रही है, जिसमें मुंबई पुलिस के सहायक निरीक्षक सचिन वाजे को गिरफ्तार किया गया है।
 
व्यापारी एनआईए के हवाले : महाराष्ट्र आतंक-रोधी दस्ते (एटीएस) ने मनसुख हिरन की हत्या के मामले की जांच के संबंध में मंगलवार को एक व्यवसायी को एनआईए को सौंप दिया। हिरेन ठाणे का रहने वाला था और कथित तौर पर उस एसयूवी कार का मालिक था जो उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर 25 फरवरी को पाई गई थी। इस कार में विस्फोटक सामग्री रखी थी। हिरेन का शव 5 मार्च को ठाणे के मुंब्रा क्रीक में पाया गया था।
 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
PAN-Aadhaar करवा लें लिंक, वरना भरना पड़ सकता है 1,000 रुपए तक का जुर्माना