किसान ने पठानकोट जिले में छह संदिग्धों को देखा, तलाश अभियान शुरू

शनिवार, 24 नवंबर 2018 (22:06 IST)
चंडीगढ़। पंजाब के सीमावर्ती पठानकोट जिले के शादीपुर गांव में एक किसान ने छह संदिग्ध लोगों को देखने का दावा किया जिसके बाद पुलिस ने व्यापक स्तर पर तलाश अभियान शुरू किया है।
 
माधोपुर क्षेत्र में गत 13 नवंबर को चार लोगों द्वारा जम्मू से भाड़े पर ली गई एक कार को लूटे जाने के बाद से सुरक्षा एजेंसियां पहले से ही चौकन्नी हैं।
 
पंजाब पुलिस ने कार के चालक द्वारा लुटेरों में से एक स्थानीय लुटेरे की पहचान किए जाने के बाद कार लूट की घटना में शनिवार को किसी आतंकी पहलू के होने की संभावना से इनकार किया।
 
पुलिस 2016 में पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर हुए हमले के बाद से अत्यंत सतर्क है। तब हमलावर पंजाब पुलिस के एक अधिकारी की कार लूटकर वायुसेना स्टेशन पहुंचे थे। 
 
पुलिस ने शनिवार को बताया कि बलबीर सिंह नामक किसान ने दावा किया कि उसने छह संदिग्ध लोगों देखा है। इसके बाद शुक्रवार की शाम तलाश अभियान शुरू किया गया। संदिग्धों का पता लगाने के लिए सूचना सभी एजेंसियों के साथ साझा की गई है।
 
बलबीर ने कहा, 'मैंने छह लंबे लोगों को देखा जिन्होंने बैग टांग रखे थे। क्योंकि वे अपरिचित लग रहे थे, इसलिए मैंने गांव के सरपंच को सूचना दी, जिन्होंने बाद में पुलिस को सूचित किया।'
 
पठानकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक शील सोनी ने शनिवार को कहा, 'हमने एहतियाती कदम उठाते हुए कम से कम पांच गांवों में तलाश अभियान चलाया। हालांकि अब तक कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है।' 
 
चंडीगढ़ में पंजाब पुलिस के महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में पठानकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से बात की थी और उन्होंने तलाश अभियान चलाया। उन्होंने कहा, 'हमने सभी एजेंसियों के साथ जानकारी साझा की है।'
 
अरोड़ा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पंजाब एक सीमावर्ती राज्य है और इसकी 553 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा है।
 
एसयूवी कार लूटे जाने से संबंधित सवाल पर पुलिस महानिदेशक ने कहा, 'उनमें (वाहन लुटेरों) से एक की पहचान कर ली गई है। वह पंजाब का एक अपराधी निकला। उस घटना में कोई आतंकी पहलू नहीं है।'
 
दरअसल, पुलिस ने गोवंश तस्करी से संबंधित जानकारी मिलने के बाद पठानकोट जिले में सभी पुलिस जांच चौकियों को शुक्रवार रात कार रोकने का अलर्ट जारी किया था। कार में सवार चार लोग कोलियन गांव और उज्ह क्षेत्र में दो पुलिस जांच चौकियों से बचते हुए मुथी गांव पहुंचे लेकिन वे अपनी कार छोड़कर चले गए क्योंकि उन्हें पुलिस चौकी को चकमा देकर आगे भागना संभव नहीं लग रहा होगा। 
 
पुलिस ने कार के मालिक का पता भी लगा लिया है। कार कठुआ क्षेत्र के हसनदीन के नाम से पंजीकृत है। कार से कुछ संदिग्ध नहीं मिला है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कार मालिक के घर पर छापा भी मारा गया, लेकिन वह वहां नहीं मिला। (भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING