Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

'शक्ति पम्प्स' ने सफलतापूर्वक पूरी की अधिक ऊंचाई वाली सोलर पंप परियोजना

webdunia
शनिवार, 4 सितम्बर 2021 (17:48 IST)
भारत की सबसे बड़ी सोलर पंप, मोटर पंप निर्माता और वितरक कंपनी शक्ति पम्प्स (इंडिया) लिमिटेड ने मिजोरम में पूर्वोत्तर क्षेत्र में सबसे पहले अधिक ऊंचाई पर मौजूद सोलर पंप परियोजना की सफलतापूर्वक स्थापना करने की घोषणा की है।

कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर दिनेश पाटीदार ने बताया कि शक्ति पम्प्स को मिजोरम के सियालहॉक गांव में 4000 फुट की ऊंचाई पर सोलर पंप की स्थापना करने का कार्य सौंपा गया था, जिसे पूरा करते हुए शक्ति पम्प्स द्वारा पूर्वोत्तर क्षेत्र की सबसे पहली अधिक ऊंचाई पर मौजूद सोलर पंप परियोजना की स्थापना की गई है।

उन्‍होंने बताया कि यह सियालहॉक परियोजना, (सोलर पम्पिंग) जल वितरण योजना के तहत अपने क्षेत्र की सबसे बड़ी और सबसे ऊंची सौर पंप परियोजना है, जिसे उस गांव को पेयजल पहुंचाने के उद्देश्य से ही नियोजित किया गया था। इस प्रमुख परियोजना के तहत कंपनी ने 45 किलोवाट की क्षमता वाले 75 एचपी (हॉर्स पावर) के 8 सौर पंप सेट स्थापित किए हैं, जो मिजोरम में इस तरह की परियोजनाओं में सबसे बड़ी है।

स्थापित किए गए 8 सौर पंप सेटों में से 4 पंप सेट चालू रहेंगे और 4 को स्टैंडबाय पर रखा गया है। इस सोलर पंप परियोजना से नदी से पानी को एक टैंक (3 लाख लीटर की क्षमता के साथ) में चार चरणों में लाया जाएगा। नदी के किनारे से लेकर पहाड़ी की चोटी पर मौजूद पानी के टैंक तक की कुल सीधी (वर्टीकल) ऊंचाई लगभग 900 मीटर है और पानी को उठाने के लिए उपयोग की जाने वाली पाइपलाइन की कुल लंबाई लगभग 7000 मीटर है।

स्वच्छ और हरित बिजली आधारित सियालहॉक सोलर पंपिंग स्टेशन ने डीजल पंप को चालू रखने के लिए दैनिक आधार पर ईंधन के परिवहन से संबंधित मुद्दों और बिजली पर निर्भरता और अन्य समस्याओं जैसे कि बिजली के तारों और इस ऊंचाई पर ट्रांसफार्मर की उपलब्धता से संबंधित मुद्दों को हल किया है। सियालहॉक सोलर पंपिंग स्टेशन मिजोरम के सियालहॉक गांव के 4000 से अधिक निवासियों को पेयजल प्रदान करेगा।

उन्‍होंने कहा, हमें गर्व है की हम इस महत्वपूर्ण परियोजना से जुड़े हैं। पूर्वोत्तर क्षेत्र के पहले अधिक ऊंचाई वाले सौर पंपिंग स्टेशन के रूप में यह परियोजना ऐतिहासिक है और सियालहॉक के रहवासियों तक बुनियादी मानव अधिकार पेयजल को आसानी से पहुंचाने में मदद करेगी। यह परियोजना विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली प्रौद्योगिकी की आधारशिला है।

हम हमेशा ऐसी विकासशील परियोजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए तत्पर रहते हैं, क्योंकि ऐसी परियोजनाएं आधुनिकीकरण और सामाजिक जरूरतों को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होती है, जो हमारी कंपनी के विज़न मिशन का एक अभिन्न अंग है। कंपनी ने सियालहॉक सोलर पंपिंग स्टेशन प्रोजेक्ट का ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है और सिविल कार्यों के पूरा होने के बाद यह चालू हो जाएगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Afghanistan Crisis : सरकार के गठन को लेकर तालिबान और हक्कानी नेटवर्क में घमासान