भोपाल में यौन शोषण मामले का मुख्य आरोपी कश्मीर से गिरफ्‍तार, SIT का गठन

बुधवार, 15 जुलाई 2020 (15:00 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में चार नाबालिग लड़कियों सहित 5 लड़कियों का कथित तौर पर यौन शोषण करने के मामले में मुख्य आरोपी 68 वर्षीय पत्रकार प्यारे मियां उर्फ अब्बा को गिरफ्तार कर लिया गया है।इसी के साथ इस मामले में 2 महिलाओं सहित 5 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है।
 
भोपाल दक्षिण पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा थोटा ने बुधवार को बताया कि प्यारे मियां को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि कल रात हमें प्यारे मियां के श्रीनगर में फरारी काटने की सूचना प्राप्त हुई थी।

इस सूचना के आधार पर श्रीनगर पुलिस के सहयोग से फरार अभियुक्त प्यारे मियां को कल रात हिरासत में लिया जा चुका है। थोटा ने बताया कि भोपाल पुलिस की टीम श्रीनगर पहुंच चुकी है तथा आगामी वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। अब उसे वहां से भोपाल लाने की प्रक्रिया जारी है।

उन्होंने कहा कि प्यारे मियां, जो कि एक स्थानीय अखबार का मालिक है, 11-12 जुलाई की रात को हुई इस घटना के बाद से फरार था।
 
उप पुलिस अधीक्षक (अपराधा शाखा) हिमानी सोनी ने बताया कि इस मामले में दो महिलाओं सहित चार अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है, जिनमें महिला दलाल स्वीटी विश्वकर्मा (21), उवैस, अनस एवं राबिया बी शामिल हैं। उवैस एवं अनस प्यारे मियां के रिश्तेदार हैं। 
 
उन्होंने कहा कि प्यारे मियां की गिरफ्तारी/सूचना हेतु अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भोपाल जोन, भोपाल उपेन्द्र जैन द्वारा 30,000 रुपए के इनाम की घोषणा की गई थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार उसके अवैध रूप से शहर में कब्जा किए गए शादी हॉल एवं कुछ मकानों को पिछले दो दिनों में ढहा दिया गया है और बाकी मकानों को ढहाने की प्रक्रिया जारी है। 
 
मध्यप्रदेश की भोपाल पुलिस द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्यारे मियां एवं अन्य लोगों के खिलाफ 4 नाबालिग सहित पांच लड़कियों के साथ बलात्कार करने के मामले में शहर के थाना शाहपुरा में भादंवि की धारा 376, 376 (2 एन), 365 (ए), 120-बी एवं पॉक्सो अधिनियम के तहत 12 जुलाई को मामला दर्ज किया गया है।
 
इसके अनुसार इस मामले की जांच हेतु भोपाल पुलिस महानिरीक्षक इरशाद वली द्वारा एसआईटी का गठन किया गया है। यह एसआईटी भोपाल दक्षिण पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा थोटा के नेतृत्व में होगी और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजत सकलेचा के पर्यवेक्षण में उप पुलिस अधीक्षक हिमानी सोनी को मुख्य विवेचक नियुक्त किया गया है।

इनके अलावा, इस एसआईटी में नगर पुलिस अधीक्षक टीटी नगर उमेश तिवारी, थाना प्रभारी महिला थाना सहित पांच अन्य थानों शाहपुरा, टीटीनगर, रातीबड़, कोहेफिजा एवं श्यामला हिल्स के थाना प्रभारियों को भी सम्मिलित किया गया है।

पुलिस अधीक्षक थोटा ने बताया कि हमने प्यारे मियां के भोपाल एवं इंदौर स्थित चार मकानों एवं फ्लैटों में पिछले दो दिनों में छापा मारकर डीवीडी, सीडी प्लेयर, पेन ड्राइव एवं हार्ड डिस्कों में स्टोर की गई बड़ी तादात में अश्लील सामग्री जब्त की है। इसमें से कुछ चाइल्ड पोर्नोग्राफी सामग्री भी है।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा इस छापेमारी में उसके इन घरों से बारहसिंगे के सींग, वन्य प्राणियों की हड्डियां और बड़ी तादाद में शराब की बोतलें भी बरामद हुई हैं। उन्होंने कहा कि उसकी दो कारों को भी जब्त किया गया है। इन कारों को पीड़ित लड़कियों को फ्लैटों में आने-जाने के लिए वह उपयोग किया करता था।

थोटा ने बताया कि एक अन्य लड़की ने भी प्यारे मियां के खिलाफ शहर के कोहिफिजा पुलिस थाने में मंगलवार को मामला दर्ज कराया है। इस प्रकार उसके खिलाफ अब तक पांच नाबालिगों सहित 6 लड़कियों ने बलात्कार का मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि प्यारे मियां के खिलाफ बलात्कार एवं पॉक्सो अधिनियम के अलावा अब आबकारी अधिनियम एवं वन्यजीव संरक्षण कानून के तहत भी मामला दर्ज कर लिया गया है।

इसके अलावा उसके खिलाफ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) अधिनियम के तहत भी मामला बढ़ाया गया है, क्योंकि दो पीड़ित लड़कियां इस समुदाय की हैं।

थोटा ने बताया कि मामले की विस्तृत जांच जारी है। उन्होंने कहा कि उसने भोपाल स्थित एक फ्लैट में डांस बार भी बना रखा था। जब उनसे सवाल किया गया कि क्या प्यारे मियां ने फरार होने से पहले इस मामले को रफा दफा करने के लिए पुलिस को एक करोड़ रुपए देने की पेशकश भी की थी, जैसा कि मीडिया में दावा किया जा रहा है, तो इस पर थोटा ने कहा कि ये सब अनुमान हैं। हकीकत में ऐसा नहीं हुआ है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Reliance AGM 2020 : Reliance लांच करेगा 5G, Jio TV+ का हुआ ऐलान