Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कश्मीर में कड़ाके की ठंड, पारा शून्य से नीचे, श्रीनगर में मौसम की सबसे सर्द रात

webdunia
शनिवार, 20 नवंबर 2021 (14:30 IST)
श्रीनगर। कश्मीर के कई हिस्सों में शनिवार सुबह कोहरे की घनी चादर छाई रही, जहां घाटी के लगभग सभी इलाकों में न्यूनतम तापमान हिमांक से नीचे दर्ज किया। अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर में मौसम की सबसे सर्द रात दर्ज की गई, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से 1.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 
मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि घाटी में न्यूनतम तापमान शुक्रवार रात हिमांक से नीचे दर्ज किया गया और पारा मौसम के इस समय के लिए सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। श्रीनगर में मौसम का अब तक सबसे कम तापमान शून्य से डेढ़ डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। गुरुवार की रात यह शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था।
 
अधिकारियों ने कहा कि पहलगाम, जो वार्षिक अमरनाथ यात्रा का आधार शिविर हैं, में न्यूनतम तापमान शून्य से 4.3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। पहलगाम कश्मीर का सबसे ठंडा स्थान रहा। उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले के गुलमर्ग रिजॉर्ट में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.0 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।
 
अधिकारियों ने बताया कि घाटी के प्रवेश नगर काजीगुंड में शून्य से 1.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया जबकि दक्षिण कश्मीर में कोकरनाग में शून्य से 1.3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। घाटी के कई हिस्सों में सुबह-सुबह घने कोहरे की चादर छा गई थी। इससे वाहन चालकों को परेशानी हुई। मौसम विभाग ने बताया कि सबह में कोहरे की यह स्थिति कुछ और दिनों तक जारी रहेगी, क्योंकि मौसम 23 नवंबर तक शुष्क रहने का अनुमान है। इसने बताया कि उत्तर कश्मीर के हिस्सों में 24 नवंबर को हल्की बर्फबारी होने का अनुमान है।
 
कश्मीर में सर्दियां, कठोर मौसम की चरम की शुरुआत से काफी पहले शुरू हो गई हैं, जो आमतौर पर दिसंबर के तीसरे सप्ताह के आसपास शुरू होती हैं। कश्मीर में कड़ाके की सर्दी की 40 दिनों की अवधि 'चिल्लईकलां' हर साल 21 दिसंबर से शुरू होती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Pain Killer से 50 फीसदी बढ़ा हार्ट अटैक से मौत का खतरा, अमेरिका में ओवरडोज से 30 प्रति‍शत बढ़ी मौतें, भारत में भी ‘पेन किलर की लत’