Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पुजारी के घर से मिला मेरठ मेडिकल कॉलेज से चोरी बच्चा

हमें फॉलो करें webdunia

हिमा अग्रवाल

गुरुवार, 1 सितम्बर 2022 (15:46 IST)
मेरठ। मेरठ मेडिकल कॉलेज से चोरी हुए बच्चे को पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया है। यह नवजात मेरठ के फूलबाग कॉलोनी में पुजारी के घर से गुरुवार की सुबह 3 बजे बरामद किया गया है। पुलिस के मुताबिक बच्चा चोरी करने वाले की पहचान केशव उर्फ दीपक के रूप में की गई है।

पुजारी का बेटा केशव उर्फ दीपक फिलहाल पुलिस गिरफ्त से दूर है, वहीं डौली नाम की महिला को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने आरोपी केशव की धरपकड़ के लिए 3 टीमें गठित कर रखी हैं। मेडिकल प्रशासन ने भी जांच कमेटी गठित की है, जो 3 दिन में अपनी रिपोर्ट देगी। बच्चे की बरामदगी के बाद माता-पिता की खुशी का ठिकाना नहीं है।

गत 29 अगस्त को किठौर थाना क्षेत्र के महलवाल की रहने वाली डौली ने ऑपरेशन से एक बच्चे को जन्म दिया था। अभी डौली होश में भी नहीं आ पाई थी कि पति नीनू को बहला-फुसलाकर केशव बच्चा चोरी करके फरार हो गया। लेकिन बच्चा चोर मेडिकल कॉलेजी के अंदर लगी तीसरी आंख (सीसीटीवी) से बच नहीं पाया और उसकी तस्वीरें सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गईं।

पुलिस में पीड़ित की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करते हुए सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सकुशल 36 घंटे में चोरी हुए बच्चे को मंगल पांडे नगर के एक घर से गुरुवार की सुबह 3 बजे बरामद किया गया है। बच्चे के साथ मौजूद डौली नाम की महिला और केशव के माता-पिता भी पुलिस हिरासत में हैं।

मेरठ के एसपी सिटी का कहना है कि पुलिस पूछताछ में शालू ने बताया कि यह बच्चा केशव उर्फ दीपक ने लाकर दिया था। वहीं पुलिस को जल्दी सफलता इसलिए मिल गई थी, क्योंकि दीपक का साफतौर पर चेहरा सीसीटीवी में कैद हो गया था। मीडिया और पुलिस में उसकी फोटो बच्चे के साथ सर्कुलेट हो चुकी थी जिसके चलते वह बच्चे को डौली के पास छोड़कर फरार हो गया।

चोरी हुए बच्चे के पिता ने पुलिस को यह भी बताया था कि चोर का एक हाथ जला हुआ है। पुलिस टीमें बच्चे की बरामदगी में लगी हुई थीं तभी उनको मुखबिर ने बताया कि सीसीटीवी में कैद शख्स का हुलिया थाना नौचंदी क्षेत्र के एक पुजारी के बेटे से मिलता है। इस पर पुजारी के घर बीती रात पुलिस पहुंची और चोर की इन्क्वायरी में पता चला कि हाथ जला शख्स मंदिर के पुजारी का बेटा है। पुलिस पुजारी के घर पहुंची और चोर के माता-पिता की निशानदेही पर बच्चे को डौली नाम की महिला से बरामद किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक डौली ने कुछ दिन पहले ऑपरेशन से एक बच्चे को जन्म दिया था और उसके बच्चे की मौत हो गई थी। डौली इससे पहले भी मां बनी लेकिन वह बच्चा भी दुनिया में नहीं रह पाया। अब वह नि:संतान रह गई जिसके चलते केशव ने डौली को यह बच्चा चोरी करके दिया था।

पुलिस का कहना है कि अभी यह साबित नहीं हुआ कि बच्चा बेचा गया है। यह बात तभी क्लीयर हो पाएगी कि उसने बच्चा चोरी करके क्यों दिया, जब वह पुलिस गिरफ्त में होगा। केशव की धरपकड़ के लिए 3 टीमें लगी हुई हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

UP: कानपुर में मित्र पुलिसिंग का अभद्र चेहरा आया सामने, दरोगा पर होगी कार्रवाई