तेजप्रताप-ऐश्वर्या विवाद के तीन 'खलनायक', तेज बोले- इन्हें भगाओ तो बन सकती है बात...

गुरुवार, 15 नवंबर 2018 (15:39 IST)
बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव द्वारा पत्नी ऐश्वर्या से तलाक के लिए अर्जी दाखिल करने के बाद से परिवार में तनाव बना हुआ है। तेजप्रताप अभी भी घर नहीं पहुंचे हैं। इस बीच, उन्होंने घर लौटने के लिए परिजनों के समक्ष एक शर्त रखी है। 
 
तेजप्रताप ने पूरे तलाक प्रकरण के लिए तीन लोगों को खलनायक बताया है। इनमें उनके (तेजप्रताप के) ममेरे भाई ओमप्रकाश और नागमणि हैं तथा तीसरे व्यक्ति पत्नी ऐश्वर्या के चचेरे भाई विपिन हैं। जानकारी के मुताबिक तेज के दोनों ममेरे भाई लंबे समय से लालू के परिवार के साथ ही रह रहे हैं। 
 
तेजप्रताप का मानना है कि परिवार में ओमप्रकाश और नागमणि की पूछपरख कुछ ज्यादा ही है। यहां तक कि वह तेजप्रताप को भी अनदेखा करने लगे हैं। तीसरे खलनायक विपिन ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय के सहायक के रूप में काम करते थे।
 
विपिन ही नागमणि और ओमप्रकाश के साथ मिलकर चंद्रिका को राजद टिकट के लिए दबाव बना रहे थे। तेजप्रताप का आरोप है कि ये तीनों मिलकर उन्हें अलग-थलग कर ऐश्वर्या को राजनीति में लाना चाहते थे। 
 
जानकारी के मुताबिक अब तेजप्रताप ने अपने परिजनों से कहा कि इन तीनों (ओमप्रकाश, नागमणि और विपिन) को पारिवारिक मुद्दों से अलग कर दिया जाए तो वे अपने तलाक के फैसले पर फिर से विचार कर सकते हैं। पता चला है कि इस मामले में बहन मीसा भारती भी उनके साथ हैं। 
 
गोवर्धन परिक्रमा में बिगड़ी तबीयत : इस बीच, तेज प्रताप यादव ने बिना खाए-पिए 21 किमी से अधिक की गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा पूरी की, जिससे उनकी तबीयत बिगड़ गई है। कहा जाता है कि वृन्दावन के लोगों और पुजारियों ने तेज प्रताप को बताया था कि कार्तिक महीने में जो कोई भी गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करता है, उसकी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING