Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मुंबई के बड़े हिस्से में बिजली गुल, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिए जांच के आदेश

webdunia
सोमवार, 12 अक्टूबर 2020 (17:24 IST)
मुंबई। मुंबई के बड़े हिस्से में सोमवार सुबह तकनीकी गड़बड़ी के चलते बिजली आपूर्ति ठप होने से लोकल ट्रेन सेवाएं बाधित हो गईं। बिजली जाने का सटीक कारण अभी पता नहीं चल पाया है। लेकिन बृहन्मुंबई बिजली आपूर्ति एवं परिवहन (बेस्ट) ने ट्वीट किया कि टाटा पॉवर से हो रही बिजली आपूर्ति में गड़बड़ी होने के चलते ऐसा हुआ है।
 
इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मामले पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए तत्काल जांच के आदेश दिए हैं। 
एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि ठाकरे ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) आयुक्त इकबाल सिंह चहल को वैकल्पिक प्रबंध करने का भी निर्देश दिया है ताकि अस्पतालों में बिजली आपूर्ति बाधित न हो।
 
बयान के अनुसार उन्होंने मुख्य सचिव को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि नियंत्रण कक्ष और दमकल विभाग इस बात को लेकर सचेत रहें कि बिजली जाने से कोई और अनहोनी न हो। इससे पहले नगर निकाय द्वारा संचालित आपदा नियंत्रण कक्ष ने कहा कि शहर के उपनगरीय इलाके कालवा में टाटा पॉवर द्वारा बिजली आपूर्ति में गड़बड़ी के चलते ऐसा हुआ है और बिजली आने में 1 घंटे तक का वक्त लगेगा।
 
वहीं महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने एक वीडियो बयान जारी कर बताया कि महाराष्ट्र राज्य बिजली ट्रांसमिशन कंपनी के 400 किलोवॉट के कालवा-पाडगा केंद्र में मरम्मत के काम के दौरान 2 नंबर सर्किट में तकनीकी गड़बड़ी आ गई। मुंबई और ठाणे का एक बड़ा हिस्सा इससे प्रभावित हुआ है। 30-40 मिनट में बिजली आ जाएगी।
 
उधर पश्चिम रेलवे ने कहा कि टाटा पॉवर कंपनी के ग्रिड में गड़बड़ी के चलते सुबह करीब 10 बजे बिजली आपूर्ति बाधित होने से चर्चगेट और बोरीवली के बीच ट्रेन सेवाएं रुक गईं। बिजली आपूर्ति बहाल होते ही सेवाएं फिर शुरू हो जाएंगी। मध्य रेलवे के अधिकारियों ने ग्रिड में गड़बड़ी को ट्रेन सेवाएं बाधित होने की वजह बताया है।
हालांकि टाटा पॉवर की ओर से इस मामले पर कोई बयान नहीं आया है। वहीं छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के प्रवक्ता ने बताया कि संचालन सामान्य रूप से जारी है। मुंबई के निगम आयुक्त आईएस चहल ने अस्पताल के अधिकारियों को जनरेटर का इंतजाम रखने के लिए कहा है कि ताकि अस्पतालों और विशेषकर आईसीयू में बिजली न जाए। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राजनाथ ने सीमावर्ती इलाकों में 44 पुलों का Online किया उद्घाटन, इसे ऐतिहासिक बदलाव बताया