Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कानपुर में Zika virus का कहर, 1 दिन में मिले 6 नए मरीज, संख्या पहुंची 10

webdunia

अवनीश कुमार

सोमवार, 1 नवंबर 2021 (20:44 IST)
कानपुर। कानपुर में जीका वायरस (Zika virus) का कहर बढ़ता चला जा रहा है और दिन-प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ती चली जा रही है।जहां कानपुर में अभी तक मात्र 4 मरीजों की पुष्टि हुई थी तो वहीं कानपुर में देर रात नए 6 मरीजों की और पुष्टि हो गई है जिसके चलते अब कानपुर में जीका वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है।बढ़ते मरीजों की संख्या को लेकर स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है।

एयरफोर्स से बाहर निकल सिविलियन क्षेत्र पहुंचा जीका वायरस : स्वास्थ विभाग कानपुर में 4 जीका वायरस के मरीजों की पुष्टि होने के बाद इसके कहर को रोकने के लिए रणनीति बनाई रही थी कि रविवार देर शाम एक साथ 6 मरीजों के मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। अब जीका वायरस एयरफोर्स स्टेशन से बाहर आकर सिविलियन क्षेत्र में पहुंच गया है।

जिन 6 लोगों में जीका वायरस की पुष्टि हुई वह सभी चकेरी थाना क्षेत्र के लाल बंगला और लालकुर्ती इलाके के ही रहने वाले सिविलियन हैं।इससे शहर की स्वास्थ्य टीमें और दिल्ली के साथ लखनऊ की आई टीमें पशोपेश में आ गईं।बताया जा रहा है कि एयरफोर्स स्टेशन में ही जीका वायरस के सोर्स का भी पता चला है।

यहीं से अब सिविल क्षेत्र में जीका वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है।सिविलियन क्षेत्र में जीका वायरस के बढ़ने से विभाग में हड़कंप मच गया है।हालांकि सभी 6 लोग खतरे से बाहर हैं।इनमें 4 महिला और 2 पुरुष हैं।इन सभी की जांच किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय से आई है।

मिलेगा बेहतर इलाज : मच्छरों की ब्रीडिंग साइकल को रोकने के लिए स्वास्थ विभाग तैयारी कर रहा है।स्वास्थ्य विभाग नगर निगम और एयरफोर्स की ओर से यह अभियान मिलकर चलाएगा। डीएम विशाख जी अय्यर ने नए संक्रमित मिलने की पुष्टि की, साथ ही कहा कि संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज की व्यवस्था की जा रही है। एयर फोर्स हॉस्पिटल समेत हैलट हॉस्पिटल में जीका वायरस के इलाज की व्यवस्था की गई है।

हवा में नहीं फैलता जीका : जीका की रोकथाम के लिए अब कानपुर के साथ ही लखनऊ और दिल्ली की टीमों ने सक्रियता और बढ़ा दी है। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक ये बीमारी एडीज मच्छर के काटने से होती है। इसकी कोई वैक्सीन भी अभी तक नहीं बनी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

उपचुनाव : 3 लोकसभा और 29 विधानसभा सीटों के लिए मतगणना मंगलवार को