Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

महाकाल मंदिर को लेकर रितिक रोशन का विज्ञापन : क्यों मचा बवाल

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 22 अगस्त 2022 (11:48 IST)
Mahakal Thali AD Zomato: देशी-विदेशी कंपनियां आए दिन अपने विज्ञापनों के माध्यम से हिन्दू देवी और देवताओं का किसी न किसी रूप में अपने हित के लिए उपयोग करते रहते हैं और कई बार इससे धार्मिक भावनाएं आहत होती रही है। कुछ दिनों पूर्व ही मां काली का अपमान किया गया था अब कहा जा रहा है कि उज्जैन स्थिति बाबा महाकाल का खाना डिलिवर करने वाली कंपनी जोमैटो ने अपमान किया है।
 
 
दरअसल, उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर के नाम पर बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन ने विज्ञापन किया है। विज्ञापन में ऋतिक कहते हैं कि थाली का मन किया। उज्जैन में हैं तो महाकाल से मंगा लिया। कंपनी के इस विज्ञापन में रितिक रोशन कह रहे हैं कि मुझे भूख लगी थी तो मैंने महाकाल से थाली मंगा ली। जोमैटो कंपनी के इस विज्ञापन का वीडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद महाकाल मंदिर के पुजारियों ने ऋतिक रोशन के इस विज्ञापन को लेकर विरोध दर्ज कराया है।
 
 
पुजारियों का कहना है कि महाकाल मंदिर से इस तरह की कोई थाली देश में तो क्या उज्जैन में भी डिलीवर नहीं की जाती है। उन्होंने ऋतिक और कंपनी से इस मामले में माफी मांगने को कहा है। पुजारियों का कहना है कि यह थाली सिर्फ श्रद्धालुओं को मंदिर के सामने के क्षेत्र में नि:शुल्क दी जाती है। इस विज्ञापन से श्रद्धालु भ्रमित हो रहे हैं। कंपनी ने अपने फायदे के लिए महाकाल मंदिर का नाम लिया है और भ्रम फैलाया है। पुजारियों ने कहा कि सहिष्णु होने की वजह से हिंदू उग्रता का प्रदर्शन नहीं करता, लेकिन यदि किसी दूसरे समुदाए की बात होती तो अब तक बखेड़ा खड़ा हो जाता।
 
इस मामले को लेकर महाकाल मंदिर समिति के अध्यक्ष और उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि विज्ञापन भ्रामक और तथ्यहीन है। ज्जैन कलेक्टर ने भी इस मामले की जांच करने की बात कही है।
 
उल्लेखनीय है कि महाकाल मंदिर के अन्न क्षेत्र में हजारों भक्त रोज भोजन प्रसादी लेने आते हैं। ये मंदिर समिति की ओर से फ्री में दिया जाता है, जिसका किसी भी रूप में कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। समिति भक्तों को सुबह 11 से 2 बजे तक और शाम 5 से रात 8 बजे तक अन्न क्षेत्र में बैठाकर भोजन कराती है। यह परंपरा यहां कई साल से चली आ रही है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महाकालेश्वर भगवान की शाही सवारी आज, जानिए क्या होगा खास