लॉकडाउन में रोज 20 मिनट निकालें सिर्फ अपने लिए

अनिरुद्ध जोशी

बुधवार, 15 अप्रैल 2020 (15:04 IST)
जब आप ऑफिस या अन्य कही जाते और आते थे तो निश्चित ही आपका 1 घंटा तो बर्बाद होता ही था। जब जबकि लॉकडाउन में घर पर ही रह रहे हैं तो कम से कम अपने लिए 20 मिनट तो निकाल ही सकते हैं। यह 20 मिनट आपके लिए वरदान साबित हो सकते हैं। आपको इन 20 मिनट में क्या करना है?
 
 
आप इन 20 मिनट में चाहें तो योग कसरत करें, ध्यान करें या पूजा पाठ करें। यह 20 मिनट सकारात्मकता, उत्साह, साहस, आशा, विश्वास और स्वास्थ लाभ के लिए जरूरी है।
 
 
1. योग करें : घर में ही आप अच्छे से योग करते रहेंगे तो आप स्वस्थ रहेंगे और आपका वजन भी नहीं बढ़ेंगे। योग में आप सूर्यनमस्कार की 12 स्टेप को 12 बार करें और दूसरा यह कि कम से कम 5 मिनट का अनुलोम विलोम प्रणायाम करें। उक्त संपूर्ण क्रिया को करने में मात्र 15 से 20 मिनट ही लगते हैं। आप नहीं जानते हैं कि यह आपके लिए कितनी फायदेमंद साबित होगी।
 
 
2. ध्यान करें : यदि आप पूजा आरती, धूप दीप आदि कार्य नहीं करना चाहते हैं तो नियम से प्रतिदिन 15 से 20 मिनट का ध्यान करें। ध्यान से व्यक्ति तनाव मुक्त हो जाता है। व्यक्ति थकानमुक्त अनुभव करता है। जिस तरह लॉकडाउन के दौरान धरती के वातावरण में सुधार हो रहा है उसी तरह ध्यान करने से आपके मन, मस्तिष्क और शरीर में सुधार होगा।
 
 
3. संध्यावंदन, पूजा, पाठ या जप करें : संध्योपासना के चार प्रकार है- 1.संध्यावंदन, 2.प्रार्थना-ध्यान, 3.कीर्तन-भजन और 4.पूजा-आरती। व्यक्ति की जिस में जैसी श्रद्धा है वह वैसा करता है। पाठ में चाहें तो हनुमान चालीसा पढ़ें। गीता का पाठ करें। विष्णु सहस्त्रनाम पढ़ें आदि। जप में आप गायत्री मंत्र की रोज एक माला जपें या अपने किसी ईष्टदेव के नाम का जप करें। अपने ईष्ट देव के नाम का एक माला रोज जपें। सभी में मात्र 20 मिनट ही लगते हैं।
 
 
4. अन्य कार्य : उपरोक्त कुछ भी कार्य नहीं करना चाहते हैं तो आप डायरी लिखें। आपके लिए यह खास समय है यदि आपने अपने जीवन के संबंध में कुछ नहीं लिखा नहीं है तो लिखें। सोचे कि अब तक आपने कैसा जीवन जिया। अपने खास दिनों को लिखें एक डायरी में। कोई किताब पढ़ें। परिवार के साथ अच्छे से संवाद स्थापित करें। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करें। आप अपने ज्ञान को अपडेट करें। घर में गार्डन है तो आप अच्‍छे से गार्डनिंग कर सकते हैं। ऐसे कई कार्य हैं जो कि आप अच्छे से 20 मिनट तक करके लाभ उठा सकते हैं।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख यदि लक्ष्मण का यह तप पूर्ण नहीं होता तो मेघनाद नहीं मारा जाता और राम युद्ध हार जाते