Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कमलगट्टे की माला के 7 फायदे

हमें फॉलो करें webdunia
कमल के फूल का हिन्दू धर्म में बहुत महत्व है। कमल पुष्प के बीजों की माला को कमल गट्टे की माला कहा जाता है। चंदन, तुलसी और कमलगट्टे तीनों में कमलगट्टे की माला घर में अवश्य रखना चाहिए। आओ जानते हैं इसके 7 प्रयोग और उसके फायदे।
 
 
1.माता लक्ष्मी की उपासना के लिए कमल गट्टे की माला शुभ मानी गई है। इसको धारण करने से लक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। इसके अलावा भुने हुए कमल के बीज या मखाने की खीर बनाकर मां लक्ष्मी को अर्पित करने से मां लक्ष्मी की कृपा हमेशा बनी रहती हैं।
 
 
2.इस माला को धारण करने वाला शत्रुओं पर विजयी होता है।
 
 
3. इस माला से कालीका माता की पूजा करने से वह जल्दी प्रसन्न होती है। मां काली की उपासना के लिए काली हल्दी अथवा नीलकमल की माला का प्रयोग करना चाहिए।
 
 
4.तुलसी के बीज से या कमल के बीज से बनी माला से जप किया जाता है। इसे पूजाघर में रखना चाहिए और जब भी आप इस माला को फेरते हुए अपने इष्टदेव का 108 बार नाम लेंगे तो इससे घर और मन में सकारात्मक वातावरण और भावों का संचार होगा।
 
 
5. अक्षय तृतीया, दीपावली, अक्षय नवमी के दिन इस माला से कनकधारा स्तोत्र का जप करने वाले को धनलाभ के अवसर मिलते रहते हैं।
 
 
6.कमलगट्टे के 108 बीज को घी में भिगोकर उसकी 108 बार आहुति देने से गरीबी मिट जाती है। कुछ लोग लगातार 21 दिन तक ऐसा करते हैं। कुछ लोग इसमें शहद मिलाकर भी हवन करते हैं।
 
 
7- किसी दुकान, ऑफिस या प्रतिष्ठान में कमलगट्टे की माला बिछाकर उसके ऊपर मां लक्ष्मी का चित्र रखकर पूजा करने से व्यापार में दिन-रात तरक्की होती हैं।
 
 
नोट: कमलगट्टे की माला धारण करने के लिए शुक्रवार के दिन प्रात: स्नान करने के बाद 108 बार ''ॐ श्रींश्रीं महालक्ष्म्यै' का जाप करें और फिर इस माला को धारण करें।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

यह है गुप्त नवरात्रि की प्रामाणिक कथा : 3 जुलाई 2019 की सुबह इसे अवश्य पढ़ें