एकतरफा जीत के साथ साक्षी मलिक क्वार्टरफाइनल में

सोमवार, 20 अगस्त 2018 (14:11 IST)
जकार्ता। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 18वें एशियाई खेलों में सोमवार को महिलाओं के 62 किग्रा फ्रीस्टाइल भार वर्ग में एकतरफा जीत के साथ क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया।
 
पदक उम्मीद साक्षी ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में थाईलैंड की सलीनी श्रीसोमबात को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर 10-0 से पराजित किया। भारतीय पहलवान ने पहले राउंड में ही 10 अंकों की बढ़त लेकर मैच को मात्र एक मिनट 54 सेकंड में समाप्त कर दिया। साक्षी का क्वार्टरफाइनल में अब कजाखिस्तान की आयुलिम कसाइमोवा से मुकाबला होगा। 
 
एशियाड में कुश्ती स्पर्धाओं के दूसरे दिन हालांकि भारत के लिए शुरुआत अच्छी नहीं रही और महिलाओं के 53 किग्रा फ्री स्टाइल भार वर्ग में पिंकी को प्रीक्वार्टरफाइनल में हार झेलनी पड़ गई। पिंकी अपने मुकाबले में कोई चुनौती नहीं रख सकीं और मंगोलिया की सुमिया एर्देनचिमेग ने उन्हें एकतरफा बाउट में 10-0 से पराजित कर दिया।
 
युवा भारतीय पहलवान के सामने 2013 में विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता मंगोलियाई खिलाड़ी ने कई दांव खेले और दोनों राउंड में 5-5 अंक बटोरे और चार मिनट 41 सेकंड में जीत दर्ज कर क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली।  
 
महिलाओं के 50 किग्रा फ्रीस्टाइल में विनेश फोगाट ने ओपनिंग राउंड में चीन की सन यनान को 8-2 से पराजित करते हुए क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने इसके बाद कोरिया की किम हिंगजू को 11-0 से पराजित करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। विनेश अब स्वर्ण पदक मुकाबले में प्रवेश करने के लिए उज्बेकिस्तान की दोलेतबाइक यक्शीमुरातोवा से भिड़ेंगी।
         
अपने क्वार्टरफाइनल मैच में रोहतक की पहलवान ने कमाल का प्रदर्शन किया और पहले राउंड में छह अंक तथा दूसरे राउंड में पांच अंक जुटाए। उन्होंने चार मिनट 37 सेकंड में मैच जीता। हालांकि इससे पहले चीन की यनान के खिलाफ विनेश का मैच काफी रोमांचक और यादगार रहा।
 
रियो ओलंपिक खेलों में 48 किग्रा भार वर्ग में उतरीं विनेश को यनान के खिलाफ ही क्वार्टरफाइनल मैच में घुटने में चोट लगी थी जिसके बाद उन्हें उल्टी हो गई थी। विनेश को उस बाउट में सीधे घुटने में गंभीर चोट आई थी जिसके कारण वह जनवरी 2017 तक फिर नहीं खेल पाई थीं। 
 
रविवार को 24 साल की होने जा रही विनेश ने 2014 के राष्ट्रमंडल खेलों में 48 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण जीता था जबकि गोल्ड कोस्ट में 50 किग्रा में भी उन्होंने स्वर्ण पदक हासिल किया था। उन्होंने 2014 के इंचियोन एशियाई खेलों में 48 किग्रा में कांस्य दिलाया था जबकि आखिरी छह एशियन चैंपियनशिप में वह देश को तीन रजत और तीन कांस्य दिला चुकी हैं।
 
महिलाओं के 57 किग्रा वर्ग में पूजा ढांडा ने उज्बेकिस्तान की नबीरा एसेनबाएवा के खिलाफ 12-1 की शानदार जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बना ली। पूजा ने पहले राउंड में 4 और दूसरे राउंड में 8 अंक जीते। वह अब सेमीफाइनल में कोरिया की सुक मियोंग जोंग से भिड़ेंगी। पूजा ने इससे पूर्व अपने प्री क्वार्टरफाइनल मैच में थाईलैंड की ओरासा सूकदोंगयोर को 10-0 से तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हराया था। 
 
पुरुषों के 125 किग्रा भार वर्ग में भारतीय पहलवान सुमित को पहले ही राउंड में ईरानी पहलवान परवेज़ हदीबास्मांज ने 10-0 से पराजित कर दिया। सुमित अपनी बाउट में कोई संघर्ष नहीं कर पाए और पहले ही राउंड में ईरानी पहलवान ने सभी 10 अंक लेकर तकनीकी श्रेष्ठता से मैच जीत क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख फरहान को मिल्खा बताने वाली किताब पर बवाल, तृणमूल ने दी यह सफाई