Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्वालीफायर्स में मिली तीसरी हार, भारत फीफा विश्वकप 2022 की रेस से बाहर

webdunia
शुक्रवार, 4 जून 2021 (11:06 IST)
दोहा:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ओलंपिक खिलाड़ियों के उत्साहवर्धन के बाद खेल जगत में भारत के लिए गुरुवार देर रात बुरी खबर आयी जब फीफा विश्वकप 202 में क्वालिफाय करने की रेस से भारत पहले ही दौर में आधिकारिक तौर पर बाहर हो गया।

गोलकीपर गुरप्रीत सिंह ​संधू ने फिर से बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया जिससे 18वें मिनट के बाद 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहा भारत यहां विश्व कप फुटबॉल क्वालीफाईंग मैच में एशियाई चैंपियन कतर के खिलाफ बड़ी हार से बच गया लेकिन 0—1 की पराजय से वह अंक बांटने में नाकाम रहा।
 
कतर ने गुरुवार की रात को खेले गये मैच में शुरू से लेक​र आखिर तक दबदबा बनाये रखा। उसकी तरफ से अब्देल अजीज ने 33वें मिनट में गोल किया जो आखिर में निर्णायक साबित हुआ।सितंबर 2019 में भारतीय फुटबॉल टीम ने भले ही कतर को उसके ही घर में बिना गोल के मैच में ड्रॉ पर रोका हो लेकिन कल ऐसा मुमकिन नहीं हो पाया। उस मैच में भी संधू ने शानदार खेल दिखाया था।
 
अफगानिस्तान और बांग्लादेश जैसी टीमों से भी भारत सिर्फ ड्रॉ करवा पाया है। ओमान के साथ हुए दो मैचों में भारत को मुंह की खानी पड़ी। पहले 0-1 से फिर 1-2 से।अपने ग्रुप में भारत सिर्फ बांग्लादेश से आगे है और पहली जीत को तरस रहा है।गुरुवार को कतर से मिली हार भारत की क्वालीफायर में तीसरी हार रही।
 
भारत को 18वें मिनट से ही 10 खिलाड़ियों के साथ खेलना पड़ा। राहुल भेके को बॉक्स के बाहर गेंद पर हाथ लगाने के कारण दूसरा पीला कार्ड मिलने से मैदान छोड़ना पड़ा था। इससे पहले उन्हें नौवें मिनट में पीला कार्ड मिला था।
 
भारत की फीफा विश्वकप 2020 में क्वालीफाय करने की संभावना न के बराबर थी और कल की हार के बाद आधिकारिक तौर पर भारत इस दौड़ से बाहर हो गया है।लेकिन वह एशियाई कप 2023 में जगह बनाने की दौड़ में शामिल है।
इगोर स्टिमक की भारतीय टीम को इस संयुक्त क्वालीफायर में अब दो मैच खेलने हैं। वह सात जून को बांग्लादेश और 15 जून को अफगानिस्तान का सामना करेगा।
 
ग्रुप में शीर्ष पर चल रहे कतर ने अभी तक कोई मैच नहीं गंवाया है। उसने शुरू से गेंद पर कब्जा बनाये रखा। संधू के लाजवाब प्रदर्शन से भारत बड़ी हार से बच गया। उन्होंने ग्रुप ई के इस मैच में कम से कम नौ बचाव किये।
 
कतर ने भारतीय गोल में 29 शॉट लगाये थे जबकि भारतीय टीम ऐसा एक बार भी नहीं कर पायी। भारत ने जवाबी हमले में दो अच्छे प्रयास किये थे लेकिन मनवीर सिंह इन्हें भुनाने में नाकाम रहे।
 
कोविड—19 से उबरने के बाद वापसी करने वाले सुनील छेत्री की जगह दूसरे हाफ में उदांता सिंह को मैदान पर उतारा गया था।
 
भारत ने अब तक एक भी मैच नहीं जीता है और वह छह मैचों में तीन अंक के साथ चौथे स्थान पर बना हुआ है। वह तीसरे स्थान की टीम अफगानिस्तान से दो अंक पीछे है। अफगानिस्तान ने इससे पहले एक अन्य मैच में बांग्लादेश को 1—1 से बराबरी पर रोका।
 
फेलिक्स सांचेज की अगुवाई वाले कतर ने पहले मिनट से ही भारत को दबाव में ला दिया था लेकिन अब्देलकरीम हसन का शॉट बॉक्स के बाहर चला गया। हसन को इसके बाद चौथे मिनट में भी मौका मिला था लेकिन संधू ने उनका प्रयास नाकाम कर दिया।
 
कतर ने हमले जारी रखे और एक खिलाड़ी बाहर होने के बावजूद संधू के शानदार प्रयास से भारत ने उसे गोल से वंचित रखा। मध्य​पंक्ति में ग्लैन मार्टिन्स, विपिन सिंह और सुरेश सिंह वांगजैम ने भी अच्छा खेल दिखाया।भारत के पास पहला मौका 29वें मिनट में आया था लेकिन मनवीर इसका फायदा नहीं उठा पाये।
 
कतर ने 33वें मिनट में बढ़त हासिल की। अब्देल अजीज हातिम को मोहम्मद मुंतारी से पास मिला लेकिन उनका पहला शॉट टकराकर वापस उनके पास पहुंच गया और इस बार इस खिलाड़ी ने गोल करने में कोई गलती नहीं की।
 
भारत ने 42वें मिनट में जवाबी हमला किया। छेत्री ने बासम अलरावी को छकाकर मनवीर को गेंद थमायी लेकिन उनका शॉट कतर के एक डिफेंडर ने रोक दिया।संधू ने इसके बाद कतर को निराश किया। उन्होंने अब्देलकरीम हसन के 47वें मिनट में और मुंतारी के 53वें मिनट में करीब से लगाये शॉट का अच्छा बचाव किया।(भाषा) 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पहले टेस्ट के दूसरे दिन बर्न्स और रूट ने इंग्लैंड की पारी को संभाला, न्यूजीलैंड से 268 रनों से पीछे