मुंबई रॉकेट्स के खिलाफ पुणे 7 ऐसेस की जीत बहुत खास थी : तापसी पन्नू

अभिजीत देशमुख 
 
पुणे। पुणे में खेली जा रही वोडाफोन प्रीमियर बैडमिंटन लीग में पुणे 7 ऐसेस ने बालेवाड़ी स्टेडियम में अपना पहला मैच जीता। इस मौके पर टीम की मालिक फिल्म अभिनेत्री तापसी पन्नू बेहद खुश हैं। उनसे बातचीत के प्रमुख अंश... 
 
पुणे 7 ऐसेस ने पीबीएल की पहली जीत दर्ज की है, ये जीत कितनी खास है?
घर में पहला मैच जीतने से बेहतर कुछ नहीं हो सकता। अपने घर के पुणे बालेवाड़ी स्टेडियम में खेलने के लिए इंतजार कर रहे थे और इस बात से बेहद खुश थे कि हमने पहला घरेलू मैच जीता। मुझे लगता है कि पुणे लोगों ने हमारे लिए जादू कर दिया है। हजारों लोगों ने यहां आकर समर्थन दिखाया। मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहती हूं।
 
मुंबई रॉकेट्स के खिलाफ हमारी जीत बहुत खास थी, क्योंकि विशेष कारण के लिए खेल रहे थे। मैं और मेरी टीम ने पुणे में एक स्तन कैंसर एनजीओ प्रशांति का दौरा किया और कैंसर के रोगियों और लोगों के साथ अच्छा समय  बिताया। हमारे लिए उनसे मिलना एक भावनात्मक क्षण था।

हमने उनके दर्द को महसूस किया इसलिए हमने तय किया कि हम अपने घर में जो पहला मैच खेलेंगे, उसे गुलाबी रंग की पोशाक पहनकर प्रशांति एनजीओ को समर्पित करेंगे। हमने उन्हें हर सेट जीतने के लिए 10 हजार रुपए भी देने का फैसला किया था। हमने मुकाबला जीता और मुझे खुशी है कि हमने अधिकतम सेट भी जीते।
 
करोड़ों भारतीय महिला व पुरुष फिट नहीं हैं? उन्हें आप क्या सलाह देना चाहती हैं?
मुझे लगता है कि फिटनेस लिंग आधारित नहीं है, स्वास्थ्य जागरूकता सब तरफ फेल रही है और खेलों की वजह से देश में फिटनेस बढ़ रही है, लेकिन अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है। लोगों को व्यायाम के लिए समय निकालना चाहिए और मेरा मानना है कि फिट रहने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप कोई खेल खेलते रहिए। बैडमिंटन सुंदर खेल है और मेरा मानना है कि अगर परिवार के सभी लोग इस खेल को खेलते हैं तो वे हमेशा सेहतमंद रहेंगे।
 
क्या आप खिलाड़ियों को प्रेरित करना पसंद करती हैं?
मैच से पहले या बाद में मैं उनसे बहुत कम बोलती हूं, क्योंकि वे खेल के समय अलग मानसिकता में होते हैं। हमने लीग में अच्छी शुरुआत नहीं की थी, लेकिन परिणामों की परवाह किए बिना मैं अब भी आपको बताती हूं कि मेरे पास सबसे अच्छी टीम है। मुझे यकीन है कि अब हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

बैडमिंटन हालांकि एक व्यक्तिगत खेल है, लेकिन लीग में यह एक टीम बनकर खेलना होता है। व्यक्तिगत रूप से यदि आप एक  मैच जीतते हैं तो यह आपको टाई या लीग जीतने नहीं देगा। हर पॉइंट और मैच मायने रखता है इसलिए हमने टीम की बहुत सारी टीम बॉन्डिंग गतिविधियां की हैं। 
 
आपने कम्प्यूटर इंजीनियरिंग भी की है, आप अभिनेत्री हैं और अब बैडमिंटन टीम की मालिक, आप कैसे इतनी  बहुमुखी हैं?
आप कह सकते हैं कि मैं सभी जगहों पर हूं। एक नियम का जिसका कि मैंने अपने जीवन में पालन किया है, वह  यह है कि जो भी आपके दिल का कहना है, उसे सुन लीजिए। अगर मेरा दिल कहता है और मेरा दिमाग योजना बना सकता है तो मैं जीवन का कोई भी काम कर सकती हूं इसीलिए आप मुझे इस तरह की विविध चीजें करते हुए देखते हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पीवी सिंधू ने साइना नेहवाल से लिया राष्ट्रमंडल खेलों का बदला