Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

उत्तर प्रदेश चुनाव में इन 10 सीटों पर भाजपा नेताओं पर वोटों की बारिश, कौन से नंबर पर हैं योगी आदित्यनाथ?

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 11 मार्च 2022 (13:55 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश समेत 4 राज्यों में बड़ी जीत मिलने से भाजपा में उत्साह का माहौल नजर आ रहा है। पार्टी ने राज्य में लगातार दूसरी बार चुनाव जीतकर 37 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। इसी जीत का स्वाद उस समय और बढ़ गया जब भाजपा के सुनील शर्मा ने 2 लाख से ज्यादा वोटों से चुनाव जीतकर देश में सबसे ज्यादा वोटों से जीतने का अजीत पवार का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। यूपी में सबसे ज्यादा अंतर से चुनाव जीतने वाले सभी उम्मीदवार भाजपा से ही है। आइए डालते हैं 2022 के चुनाव की 10 बड़ी जीतों पर एक नजर...
 
सुनील शर्मा ने भाजपा के गढ़ माने जाने वाले साहिबाबाद से 2 लाख 14 हजार 286 वोटो से सपा के अमरपाल को हराया। उन्होंने महाराष्ट्र के उपमुख्‍यमंत्री अजीत पवार के 2019 में बने 1 लाख 65 हजार 265 वोटों से जीत के रिकॉर्ड को तोड़ दिया।
 
राजनाथ के बेटे और भाजप नेता पंकजसिंह सर्वाधिक मतों से जीत दर्ज करने के मामले में दूसरे नंबर पर रहे। उन्होंने नोएडा से सपा के सुनील चौधरी को 1 लाख 81 हजार 513 वोटों से हराया।
 
दादरी से तेजपाल सिंह नागर ने समाजवादी पार्टी के राजकुमार भाटी को 1 लाख 38 हजार 218 वोटो से हराया। मेरठ केंट से अमित अग्रवाल ने राष्‍ट्रीय लोकदल की मनीषा अहलावत पर 1 लाख 17 हजार 526 वोटों से जीत दर्ज की।
 
भाजपा नेता पुरुषोत्तम खंडेलवाल आगरा केंट से 1 लाख 12 हजार 37 वोटों से जीत दर्ज करने में सफल रहे जबकि महरौनी से मनोहर लाल पंथ 1 लाख 10 हजार 451 वोटों से जीते।
 
योगी सरकार के दिग्गज मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मथुरा में कांग्रेस के प्रदीप माथुर को 1 लाख 9 हजार 803 वोटों से हराया। ललितपुर से रामरतन कुशवाह और गाजियाबाद से अतुल गर्ग ने क्रमश: 1 लाख 07 हजार 217 और 1 लाख 05 हजार 389 वोटों से जीत दर्ज की।
 
उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी 1 लाख से ज्यादा मतों से चुनाव जीते। उन्होंने सपा के शुभावती उपेंद्र शुक्ला को गोरखपुर शहर से 1 लाख 02 हजार 399 मतों से मात दी।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

योगी आदित्यनाथ बनेंगे नरेंद्र मोदी के उत्तराधिकारी ?