Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

यूपी के बड़े राजनीतिक दलों के लिए सिमट चुकी कांग्रेस बनी सिरदर्द...

webdunia

अवनीश कुमार

मंगलवार, 16 नवंबर 2021 (00:53 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 बेहद चौंकाने वाले नतीजे देने वाले हैं और इसके पीछे मुख्य वजह है उत्तर प्रदेश में सिमट चुकी कांग्रेस दिन-प्रतिदिन बीजेपी व समाजवादी पार्टी, बीएसपी को टक्कर देती हुई नजर आ रही है।जिसके चलते बीजेपी, समाजवादी पार्टी व बीएसपी कांग्रेस की रणनीति पर भी विशेष ध्यान देने लगी है। लेकिन वही बीएसपी से ज्यादा कोई भी मौका बीजेपी व समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता समय-समय पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए नजर नहीं आते हैं।

बताया जा रहा है कि जहां कुछ दिन पूर्व तक उत्तर प्रदेश का चुनाव बीजेपी और समाजवादी पार्टी के बीच सिमटकर रह गया था।तो वहीं अब प्रियंका गांधी का खुलकर मैदान में आ जाने के बाद कांग्रेस की प्रदेश की जनता के बीच जोरदार वापसी कहीं न कहीं समाजवादी पार्टी और बीजेपी के लिए सिरदर्द बनने लगी है।

जिसके चलते 2022 में नतीजा क्या होगा इसको खुलकर कहना अभी इतना आसान नहीं है क्योंकि कहीं ना कहीं कांग्रेस का प्रदेश में पुनर्जीवित होना अन्य जिलों के लिए चिंता का सबब बन चुका है।हालांकि अभी यह देखा जाना बाकी है कि क्या कांग्रेस की प्रियंका गांधी का प्रयास आगे चल रही भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए काफी होंगे।

किसी भी दल के लिए नहीं होगा आसान उत्तर प्रदेश : लगभग 17 वर्षों से कई बड़े अखबारों से जुड़े रहे वरिष्ठ पत्रकार राजेश श्रीवास्तव का कहना है कि उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव का नतीजा क्या रहेगा इस पर चर्चा करना अभी ठीक नहीं होगा क्योंकि इस समय सत्ता में काबिज भारतीय जनता पार्टी जनता को लुभाने के लिए कोई भी मौका नहीं छोड़ रही है तो वहीं प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के बाद बड़े दलों में समाजवादी पार्टी का नाम आता है ऐसे में समाजवादी पार्टी भी अखिलेश यादव के 2012 के किए गए विकास कार्य को लेकर दोबारा सत्ता में वापसी करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं।

कुछ समय तक जहां लड़ाई भारतीय जनता पार्टी व समाजवादी पार्टी के बीच चुनाव सीमित रह गया था।लेकिन कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी ने कांग्रेस को पुनर्जीवित कर दिया है और नई ऊर्जा के साथ प्रदेश के अन्य दलों के खिलाफ जमकर मोर्चा खोला हुआ है अब कहीं ना कहीं प्रियंका गांधी को जनता का साथ भी मिल रहा है जिसके चलते जीत का ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो आने वाला समय बताएगा लेकिन 2022 का चुनाव किसी भी दल के लिए आसान नहीं होगा।

नतीजा कुछ भी हो फायदे में कांग्रेस : लगभग 22 वर्षों से बड़े अखबारों में कार्य कर चुके अतुल सिंह का कहना है कि उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाला विधानसभा चुनाव बेहद दिलचस्प होने वाला है और इसके पीछे मुख्य वजह है उत्तर प्रदेश में सिमट रही कांग्रेसका पुनर्जीवित होना और इसका श्रेय सीधे तौर पर प्रियंका गांधी को दिया जाना चाहिए। मैं तो सीधे तौर पर कहता हूं सरकार किसकी बनेगी और कौन मुख्यमंत्री बनेगा यह एक बाद का विषय है लेकिन कहीं न कहीं कांग्रेस अन्य दलों के लिए सिरदर्द बनी हुई है।

कांग्रेस को लेकर अब सभी दल अपनी-अपनी रणनीति तैयार कर रहे हैं लेकिन आप देखिएगा कांग्रेस का नुकसान होने का सवाल ही नहीं उठता है, लेकिन फायदा अधिक होगा। इस बार के चुनाव में कांग्रेस को सीटों का तो फायदा होगा ही होगा लेकिन इसी के साथ-साथ संगठन को जो मजबूती मिल रही है उसका फायदा 2024 से होने वाले लोकसभा चुनाव में देखने को मिलेगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

UP : कांग्रेस अकेले लड़ेगी चुनाव, प्रियंका गांधी ने किया ऐलान