Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

योगी के गढ़ में गरजीं प्रियंका गांधी, बोलीं- 70 साल की मेहनत BJP ने 7 साल में गंवा दी

webdunia
रविवार, 31 अक्टूबर 2021 (16:44 IST)
लखनऊ (उत्‍तर प्रदेश)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह नगर गोरखपुर में प्रतिज्ञा रैली की। रैली के दौरान प्रियंका ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। प्रियंका ने कई मुद्दों को लेकर योगी सरकार को कठघरे में खड़ा किया। प्रियंका गांधी ने कहा कि 70 सालों की मेहनत भाजपा ने 7 साल में गंवा दी है।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर मछली पालन को कृषि का दर्जा दिया जाएगा और मछली पालन तथा बालू खनन में निषादों को उनका अधिकार वापस दिया जाएगा।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने इसके अलावा कांग्रेस की सरकार बनने पर महिलाओं को सरकारी बस में मुफ्त यात्रा और आंगनवाड़ी एवं आशा कार्यकर्ताओं को कम से कम दस हजार रुपए का मानदेय देने की भी घोषणा की। रविवार को गोरखपुर में कांग्रेस की प्रतिज्ञा रैली में अपने संबोधन की शुरुआत भोजपुरी में करते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि धर्म और जाति के नाम पर आपकी भावनाओं और आपकी आस्था के साथ खिलवाड़ किया गया है।

उन्होंने कहा, इस सच्चाई को पहचानिए कि एक नेता का सबसे बड़ा धर्म सेवा होता है। आज सरदार पटेल का जन्मदिन और इंदिरा (गांधी) जी जैसी नेता का शहादत दिवस है। इंदिरा जी ने आपको दिखाया कि उनके लिए देश से बड़ा कोई नहीं। जो आस्था आपने उनमें रखी उसी आस्‍था के लिए उन्होंने अपना जीवन दे दिया।

उन्होंने कहा, जब हम स्कूल जाते थे तो उनसे मिलकर जाते थे, आज ही के दिन उन्होंने मेरे भाई से कहा कि अगर मुझे कुछ हो जाएगा तो रोना मत। वह जानती थीं कि उनकी हत्‍या हो जाएगी लेकिन वह कभी पीछे नहीं हटीं क्योंकि उनके लिए देश और आपकी आस्था से बढ़कर कुछ नहीं था। अगर आज मैं आपके सामने खड़ी हूं तो यह उन्‍हीं की सीख है, मैं कभी आपकी आस्‍था नहीं तोड़ सकती हूं।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, मैं कांग्रेस की प्रतिज्ञा उसी आस्था से रखना चाहती हूं, मैं कहना चाहती हूं कि जो प्रतिज्ञा है वह पूरी होगी, अगर हमारी सरकार आएगी तो मछली पालन को कृषि का दर्जा दिया जाएगा। जो सुविधाएं और छूट कृषि के लिए हैं वह सब मछली पालन में लागू होंगी। बालू खनन और मछली पालन में निषाद समाज को उनका अधिकार वापस दिया जाएगा।

वाड्रा ने सरकार बनने पर हर साल तीन सिलेंडर मुफ्त देने का भी वादा किया। इसके अलावा बीमारी में दस लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज का भी वचन दिया। उन्होंने गुरु गोरक्षनाथ के गुरु, गुरु मत्‍स्‍येंद्र नाथ के नाम पर विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा करते हुए किसानों का पूरा कर्ज माफ करने, गेहूं और धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2500 रुपए प्रति क्विंटल, गन्‍ना मूल्‍य 400 रुपए प्रति क्विंटल, 20 लाख युवाओं को नौकरी देने, 12वीं पास छात्राओं को स्मार्टफोन और मोबाइल तथा स्नातक पास छात्राओं को स्‍कूटी दिए जाने के हाल में दिए वचन को दोहराया।

उन्होंने साथ ही कहा कि कांग्रेस 40 फीसदी महिलाओं को विधानसभा चुनाव में टिकट देगी। उन्होंने इसके अलावा वादा किया कि कांग्रेस की सरकार बनी तो अन्ना पशुओं (छुट्टा जानवरों) की समस्या का पूर्ण समाधान किया जाएगा। उन्होंने कहा, कुछ लोग भाजपा से मिले होने का आरोप लगाते हैं लेकिन मैं इस मंच से कह रही हूं कि मर जाऊंगी, जान दे दूंगी, लेकिन कभी भाजपा से मिलावट नहीं करुंगी।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि कबीर दास कहते थे कि ‘साईं इतना दीजिए जामें कुटुंब समाय’ लेकिन भाजपा की मंशा यह है कि जनता से लूट-लूट कर पूंजीपतियों को पहुंचाएं, महंगाई इतनी बढ़ाओ कि जनता त्राहि-त्राहि चिल्‍लाए।

उन्होंने कहा, कहते हैं कि 70 साल में कांग्रेस ने क्या किया, मैं कहती हूं 70 साल में जो कांग्रेस ने बनाया उसे सात वर्षों में इन लोगों ने बेच दिया। उन्होंने राज्य में गरीबों, पिछड़ों, बुनकरों, किसानों, महिलाओं, दलितों और ब्राह्मणों के उत्पीड़न का मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा, अमित शाह (केंद्रीय गृहमंत्री) का कल भाषण सुन रही थी, अमित शाह कह रहे थे कि उत्तर प्रदेश में अब अपराधियों को दूरबीन लेकर ढूंढना पड़ता है, लेकिन उनके साथ कौन खड़ा था, अजय मिश्रा टेनी (गृह राज्यमंत्री), मैं कह रही हूं दूरबीन छोड़िए, चश्मा लगाइए, क्या गरीब की कोई सुनवाई नहीं है।

उल्लेखीय है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अजय मिश्रा का पुत्र आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी है जिसमें में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। उन्होंने कहा, यहां पर जलभराव की जो समस्या है आपने देखा होगा कि मुख्यमंत्री बनने से पहले योगी जी आते थे और जब से मुख्यमंत्री बने हैं हवाई जहाज से उड़कर चले जाते हैं। उनकी सरकार ने जन-जन की रोटी खत्म की है।

प्रियंका गांधी ने कहा, कोरोना में जो ऑक्सीजन मांग रहा था उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। कहा जाता था कि जमीन जब्त कर लेंगे। मदद नहीं मिली, सहायता नहीं मिली। नदी में लाशें बह रही थीं लेकिन सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं आई। कोरोनावायरस की वजह से जिनकी रोजी-रोटी छिन गई उनकी आज तक मदद नहीं हो पाई, कांग्रेस ऐसे परिवारों को 25 हजार रुपए की मदद देगी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता अपना खून बहाने के लिए तैयार है और जो कहते हैं कि हमारा संगठन दुर्बल है वह यहां आई भीड़ देख लें। कांग्रेस महासचिव ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, उत्तर प्रदेश में सब कुछ गुरु गोरखनाथ की वाणी के विपरीत हुआ, बुलडोजर चले, आपकी संपत्ति जब्त करने, जेल में डालने की बात की गई।

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया कि अपने नेता से सवाल कीजिए कि आपने जितने वादे किए, एक भी पूरा क्यों नहीं हुआ। प्रदेश में पूर्वांचल में बदलाव आना चाहिए। प्रियंका गांधी वाड्रा ने गुरु मत्‍स्‍येंद्र नाथ और गुरु गोरखनाथ के जयकारे के साथ अपना भाषण समाप्त किया।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

मायावती ने दलबदलू विधायकों को बरसाती मेंढक करार दिया, कहा- ये नुकसान ही करेंगे