Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गजब है इनका जोश और जज्बा, 81 साल की उम्र में उतरीं चुनावी रण में...

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share

अवनीश कुमार

शनिवार, 3 अप्रैल 2021 (19:39 IST)
कानपुर। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के प्रथम चरण का नामांकन प्रक्रिया शनिवार से शुरू हो गई है और प्रत्याशी अपना भाग्य आजमाने के लिए मैदान में उतरने की तैयारी भी कर रहे हैं, लेकिन कानपुर के चौबेपुर ब्लाक में एक 81 साल की वृद्ध महिला ने सिर्फ नाली-खड़ंजा बनवाने के लिए चुनाव मैदान में ताल ठोंक दी है।
 
उनका कहना है कि वे चुनाव सिर्फ इसलिए लड़ रही हैं क्योंकि सभी से अपने गांव में नाली खड़ंजा बनवाने के लिए कह-कहकर थक गईं, लेकिन उनकी बात किसी ने नहीं सुनी। अब वह खुद चुनाव जीतकर अपने गांव का विकास करेंगी।

किसी ने नहीं कराया विकास : कानपुर के चौबेपुर विकासखंड में विकास कार्य न होने से परेशान होकर रुद्रपुरवैल निवासी 81 वर्षीय वृद्ध महिला रानी ने शनिवार को क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए नामांकन दाखिल किया है। उन्होंने कहा है कि चुनाव जीतने के बाद वह नाली खड़ंजा का काम गांव में करवाएंगी।
 
वृद्ध रानी ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि गांव में कोई भी विकास कार्य नहीं हुआ है, जिसके चलते आज भी गांव में सड़कों पर पानी भरा रहता है और सभी को दिक्कत होती है। उन्होंने बताया कि उनका नाती उन्हें चुनाव लड़ने से मना कर रहा था, लेकिन उन्होंने चुनाव लड़ने की ठान ली है।
 
गांव में हो रही है चर्चा : 81 साल की वृद्ध महिला रानी के चुनाव लड़ने की जानकारी जैसे ही गांव वालों को मिली तो सभी उनकी हिम्मत की दाद दे रहे हैं और कह रहे हैं कि गांव में विकास कार्य किसी ने नहीं करवाया है और कई बार वृद्ध रानी गांव के कई नेताओं से भी कह चुकी हैं और किसी ने उनकी बात पर कभी ध्यान ही नहीं दिया, लेकिन उन्होंने चुनाव लड़ने का जो कदम उठाया है उसकी हम सराहना करते हैं। इतनी उम्रदराज होने के बाद भी वह गांव में नाली-खड़ंजा लाने के लिए चुनाव लड़ रही हैं। नतीजा कुछ भी हो, लेकिन उनकी इस हिम्मत से गांव वाले उनके साथ हैं।
 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
ओडिशा विधानसभा में अध्यक्ष के आसन की तरफ फेंके चप्पल, ईयरफोन और कागज