Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मेरठ में फलफूल रहा है नकली नोटों का कारोबार, छाप लिए 2000 के नोट

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

हिमा अग्रवाल

बुधवार, 6 जनवरी 2021 (12:54 IST)
मेरठ। मेरठ में नकली नोटों का कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है। पुलिस ने एक ऐसी गैंग का पर्दाफाश करते हुए 4 लोगों को गिरफ्तार किया है, जो धड़ल्ले से नकली करेंसी एनसीआर में खपा रहे थे। पुलिस गिरफ्त में 2 महिलाएं और 2 पुरुष आए हैं। ये गैंग नई करेंसी 2000, 500-200 रुपए के नोट नकली तैयार करके बाजार में खपा रहा थी। पुलिस ने इनके पास 5,42,400 रुपए के जाली नोट व 97,500 रुपए अर्द्धनिर्मित जाली नोट व नकली मुद्रा छापने का प्रिंटर व अन्य साम्रगी बरामद की है।
मेर थाना गंगानगर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि बक्सर चौराहे पर कुछ संदिग्ध व्यक्ति नकली करेंसी लेकर घूम रहे है। पुलिस ने सूचना पर वाहनों की चेकिंग करते हुए आसपास के क्षेत्रों की तलाशी ली। इसी दौरान पुलिस को सीएनजी पंप के पास नकली नोटों के साथ 2 महिलाएं मिलीं जिनके पास से पुलिस ने 500-500 रुपए के 10 तथा 200-200 रुपए के 19 नकली नोट बरामद किए।
 
नकली नोटों के साथ पकड़ी गईं महिलाओं ने पूछताछ में बताया कि किराए के मकान में रोबिन और सिकंदर रहते हैं और वहीं इन नोटों को तैयार करके देते हैं यानी नकली नोट खपाने के लिए ये शातिर महिलाओं का सहारा ले रहे थे। पुलिस ने महिलाओं की सूचना पर सुभाष नगर में दबिश देकर दोनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया और उनके कब्जे से नकली नोट बनाने के उपकरण (कलर प्रिंटर, 3 हरी चमकीली सैलो टेप, 4 कटर, असली नोटों से 2000-2000 व 500-500 के नोटों के कलर प्रिंट तैयार करने की डाई, शीशा, सफेद पेपर, 2 स्केल) तथा 5 लाख 33 हजार 600 रुपए के नकली नोट तथा 97 हजार 500 रुपए अर्द्धनिर्मित नकली नोट भी बरामद किए हैं।
नकली नोटों के सौदागरों ने बताया कि कुछ समय पहले जेल में बंद कुछ लोगों से उसकी मुलाकात हुई। उसके बाद पकड़े गए आरोपी भी गैंग में शामिल हो गए और नकली नोटों का कारोबार करने लगे। नकली नोट तैयार करने वाली ये गैंग गली-मोहल्लों की छोटी दुकानों, साप्ताहिक बाजारों, रेहड़ी-पटरी वाले दुकानदारों को नकली करेंसी देकर सामान खरीदाता था।
 
अब तक ये गैंग 5 लाख की नकली करेंसी मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़ व दिल्ली आदि में खपा चुकी है। इस गैंग का एक अभियुक्त प्रशांत वर्तमान में नकली नोटों के मुकदमे में थाना सिम्भावली हापुड़ से गाजियाबाद जेल में है। पकड़े गए अभियुक्तों से पुलिस ने 2000 रुपए के 115 नकली नोट, 500 रुपए के 574 नकली नोट, 200 रुपए के 69 नकली नोट, 100 रुपए के 116 नकली नोट और अर्द्धनिर्मिति 2000 के 33 नकली नोट, कुल 66000, अर्द्धनिर्मिति 500 के 63 नकली नोट बरामद किए हैं।
 
ये जालसाज छोटे बाजारों या भीड़भाड़ वाले मार्केट में महिलाओं के माध्यम से नकली करेंसी खपा रहे हैं, जो भारतीय अर्थव्यवस्था को सेंधमारी करके नुकसान पहुंचा रहे हैं। पुलिस गिरफ्त में आए ये आरोपी तो छोटी मछली हैं तथा इनके आकाओं को पकड़ना पुलिस के लिए चुनौती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पेट्रोल-डीजल के दामों में 29 दिन बाद बढ़ोतरी, जानिए 4 महानगरों में क्या रहे भाव