Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पति-पत्नी के विवाद में ठगी का शिकार हुआ पति, आरोपी फर्जी दरोगा गिरफ्तार

webdunia

अवनीश कुमार

रविवार, 3 अक्टूबर 2021 (12:30 IST)
मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा पति पत्नी के बीच चल रहे विवाद को सुलझाने के लिए फर्जी दरोगा बनकर ठगी करने वाले युवक को सदर बाजार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के पास से नकदी, मोबाइल और एक कार बरामद की है।

फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ में जुटी है। आरोपी ने अपना नाम जावेद अली, निवासी रजा मस्जिद के पास मुस्तफाबाद,लोनी गाजियाबाद का रहने वाला बताया है।
 
क्या है मामला : पूरे मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि मथुरा के थाना सदर बाजार की सिविल लाइन निवासी हेमंत कुमार भारद्वाज ने 9 सितंबर को शिकायत दर्ज कराई था। इसमें भाई राहुल और उसकी पत्नी श्वेता के बीच रोज हो रहे विवाद की जानकारी दी थी।
 
इस दौरान 18 अगस्त को दरोगा योगेंद्र कुमार बनकर एक फोन कॉल हेमंत कुमार के भाई राहुल के पास आया। राहुल से फोन में बात कर रहे व्यक्ति ने कहा कि वह थाना सिहानीगेट का इंचार्ज बोल रहा हूं। तुम्हारी पत्नी ने तुम्हारे खिलाफ गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसे सुनकर राहुल घबरा गया और अपने आप को निर्दोष बताया।
 
फर्जी दरोगा योगेंद्र कुमार ने खाते में एक लाख भेजने की बात कही जिसे राहुल ने मान लिया और उसके खाते में एक लाख भी भेज दिया। इसके बाद राहुल ने 27 अगस्त को कार से खुद को उपनिरीक्षक योगेंद्र कुमार बताने वाला व्यक्ति पुलिस वर्दी में सिविल लाइन पेट्रोल पंप पर आया और एक लाख रुपए और ले गया। धीरे-धीरे करके समझौते के नाम पर फर्जी दरोगा के द्वारा 6 लाख 50 हजार रुपए ले लिए। उसके बाद से फर्जी दरोगा ने अपना मोबाइल बंद कर लिया।
 
जानकारी करने पर निकला फर्जी दरोगा : जब राहुल की बात फोन से होना बंद हो गए तो राहुल ने दरोगा योगेंद्र कुमार की जानकारी करी तो उसे पता चला कि इस नाम का कोई भी दरोगा थाने व चौकी में नहीं है। फोटो के आधार पर राहुल इसका पता किया तो उसका सही नाम जावेद अली निकला राहुल तब तक ठगी का शिकार हो चुका था।
 
इसके बाद राहुल ने पूरे मामले की जानकारी सदर थाने पुलिस को दी पीड़ित की तहरीर के आधार पर सदर थाना पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर फर्जी दरोगा की तलाश शुरू कर दी और साइबर सेल की मदद से फर्जी दरोगा जावेद अली को एनसीसी तिराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के दौरान आरोपी के पास से 1.37 लाख रुपए, कार और मोबाइल, पुलिस की वर्दी बरामद की गई।
 
क्या बोले अधिकारी : एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि आरोपी फर्जी दरोगा को गिरफ्तार कर लिया गया है। विधिक कार्रवाई कर उसे जेल भेज जा रहा है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

CoronaVirus India Update : देश में 2.70 लाख एक्टिव मरीज, 199 दिनों में सबसे कम