Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Zika Virus in UP : कानपुर में 'जीका' का तांडव जारी, 16 नए मरीज मिले, 105 पर पहुंची संख्‍या

webdunia

अवनीश कुमार

मंगलवार, 9 नवंबर 2021 (16:48 IST)
कानपुर। कानपुर में जीका वायरस (Zika Virus) संक्रमण का कहर धीरे धीरे बढ़ता ही चला जा रहा है। मंगलवार दोपहर में आई रिपोर्ट के अनुसार कानपुर में 16 नए जीका वायरस संक्रमित की पुष्टि हुई है।

इसके चलते अब कानपुर में जीका वायरस संक्रमित लोगों की संख्या 105 हो गई है। शनिवार को आई रिपोर्ट में अगर सूत्रों की मानें तो 9 पुरुष और 7 महिलाएं में संक्रमण की पुष्टि हुई हैं।
 
मंगलवार को आई रिपोर्ट में हरजिंदर नगर, पोखरपुर, तिवारीपुर बगिया और काजी खेड़ा मोहल्ले के रहने वाले लोक संक्रमण की चपेट में आए हैं, वहीं कानपुर में सबसे ज्यादा जीका वायरस के मरीज एयरफोर्स परिसर, तिवारीपुर बगिया, बदली पुरवा, ओमपुरवा, काकोरी, लाल बंगला, हरजिंदर नगर, आदर्श नगर, लालकुर्ती, काजीखेड़ा, कोयला नगर, गिरिजा नगर, तुलसी नगर, भवानी नगर एवं श्याम नगर ई ब्लाक क्षेत्र में जीका वायरस संक्रमित मिले हैं। 
webdunia
3767 के भेजे गए सैंपल : स्वास्थ्य विभाग ने जीका वायरस के संक्रमण के लक्षण वाले, बुखार पीड़ित और गर्भवती महिलाओं के सेंपल इकट्ठा किए गए हैं। अब तक 3767 से अधिक लोगों के सैंपल एकत्र करके जांच के लिए लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी और पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलाजी भेजे गए हैं।
 
बढ़ सकते हैं मरीज : स्वास्थ्य विभाग सूत्रों की मानें तो जीका वायरस संक्रमण नवंबर माह में तेजी के साथ बढ़ सकता है। इसके चलते मरीजों की संख्या में आने वाले दिनों में तेजी से इजाफा होगा। इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल संबंधित व्यवस्थाओं तेजी के साथ व्यवस्थित करने का काम शुरू कर दिया है और वहीं जिला प्रशासन की ओर से स्पष्ट दिशा-निर्देश दिए गए हैं कि मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अस्पतालों में भी जीका वायरस से लड़ने के संपूर्ण इंतजाम किए जाएं।
webdunia
क्या बोले अधिकारी : डॉ. जीके मिश्रा, अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, कानपुर मंडल ने बताया कि 16 और जीका वायरस संक्रमित मिले हैं,जीका प्रभावित क्षेत्रों में सर्विलांस टीमें लगाई गई हैं। घर-घर सर्वे, सैंपलिंग, सोर्स रिडक्शन, साफ-सफाई, दवा छिड़काव और जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राफेल को लेकर फिर गर्माई राजनीति, कांग्रेस-भाजपा में आरोप-प्रत्यारोप