Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Kanpur Violence : कानपुर हिंसा के आरोपी जफर हयात की पत्नी बोलीं- मेरे पति तो कहीं निकले ही नहीं.... निर्दोष हैं

कानपुर एसपी बोले- किसी को नहीं बख्शेंगे, एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई

हमें फॉलो करें webdunia

अवनीश कुमार

शनिवार, 4 जून 2022 (18:40 IST)
कानपुर। कानपुर के बेकनगंज में हुई हिंसा में पुलिस ने 3 मुकदमे दर्ज करते हुए 24 आरोपियों को गिरफ्तारी किया है और सीसीटीवी के फुटेज के आधार पर अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।
घटना के मुख्य आरोपी मौलाना मोहम्मद अली (एमएमए) जौहर फैंस एसोसिएशन का अध्यक्ष हयात जफर हाशमी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। कोर्ट पहुंची हयात जफर हाशमी की पत्नी उजमा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस उपद्रव का ठीकरा हयात जफर हाशमी पर फोड़ना चाहती है जबकि वह में शामिल नहीं है। पुलिस असली आरोपितों तक पहुंच नहीं पा रही है। 
 
हयात जफर हाशमी की पत्नी उजमा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि असली आरोपितों तक पुलिस पहुंच नहीं पा रही है, इसलिए हयात का नाम जबरन जोड़ा जा रहा है। पुलिस के पास क्या सबूत है, जिसकी बिनाह पर हयात जफर पर आरोप लगाए जा रहे हैं। उन्हें अदालत में पूरा भरोसा है और न्याय जरूर मिलेगा। 
हयात जफर हाशमी की पत्नी उजमा ने बताया कि नुपुर शर्मा के बयान को लेकर हयात जफर हाशमी ने बंद का आह्वान जरूर किया था, लेकिन पुलिस और प्रशासन द्वारा अनुमति न मिलने पर बंद को वापस ले लिया था। इसके लिए उन्होंने अपने सभी समर्थकों से बंद में शामिल नहीं होने की अपील भी की थी। शुक्रवार को पूरे दिन हयात जफर घर पर ही रहे और बाहर भी नहीं निकले।
 
क्या था मामला : भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा मोहम्मद साहब पर की गई विवादित टिप्पणी को लेकर एक पक्ष आक्रोशित था। इसके चलते शुक्रवार को नमाज के बाद नई सड़क पर लोगों की भीड़ जुटने शुरू हो गई और जमकर भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ नारेबाजी होने लगी और एक पक्ष दूसरे पक्षों की दुकानों को भी बंद करवाने लगा देखते ही देखते कुछ अराजक तत्वों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। 
webdunia
इसके बाद माहौल बिगड़ गया और पत्थरबाजी होने लगी। हालात इस कदर बेकाबू हो गए कि उपद्रवियों ने पथराव के साथ ही फायरिंग व बमबाजी भी की। 
 
बवाल की सूचना पर भारी फोर्स के साथ ही डीएम नेहा शर्मा, संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी के साथ कई सर्किल के एसीपी और पीएसी समित भारी फोर्स मौके पर पहुंचा और लोगों को समझाने का प्रयास किया तब जाकर कहीं हालात काबू में आए।
webdunia

एसपी बोले- एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत होगी कार्रवाई

विजय सिंह मीणा, पुलिस कमिश्नर (कानपुर नगर) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिंसा का मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी और उसके 3 साथियों को लखनऊ के हजरतगंज से गिरफ्तार कर लिया है। मीणा ने बताया कि हिंसा भड़काने के बाद लखनऊ के हजरतगंज में जाकर छिपे हुए थे। इन सभी के पास से 6 मोबाइल व कुछ दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं। पुलिस ने हिरासत में लेकर इनसे पूछताछ कर रही है। अब पुलिस पकड़े गए सभी अभियुक्तों के बैंक अकाउंट को भी जब्त कर उसकी जांच करेगी। इसके लिए पुलिस इन सभी को कोर्ट में हाजिर करने के बाद 14 दिनों की रिमांड की मांग कोर्ट से करेगी।
 
एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई : कानपुर एसपी ने बताया कि भविष्य में कोई भी इस तरह की हरकत न करें, इसके लिए इन सभी पर एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए इनकी संपत्तियों को भी जब्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी के माध्यम से भी अन्य आरोपियों को चिन्हित किया जा रहा है। जो लोग भी शामिल हैं किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।
 
उन्होंने कहा कि कानपुर के शांति-अमन को खराब करने वाला कोई भी क्यों न हो, पुलिस उसे ढूंढ निकालेगी ताकि भविष्य में ऐसा करने से पहले वह कई बार सोचे इसके लिए कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

हर बिंदु की जांच : मीणा ने बताया कि पीएफआई व अन्य संगठनों के बारे में भी जानकारी हुई है जिसकी भी बिंदुवार जांच की जा रही है। घटनाक्रम में जो भी संगठन शामिल होगा उस पर भी कड़ी कार्रवाई होगी। साथ ही साथ जो लोग गिरफ्तार किए गए हैं उन सभी के व्हाट्सएप से लेकर सभी सोशल मीडिया के अकाउंट भी चेक किए जा रहे हैं और इन सभी के बैंक खातों की भी जांच होगी कि कहीं बाहर से इन्हें कोई फंडिंग तो नहीं कर रहा है। अगर फंडिंग की जानकारी मिली तो फंडिंग करने वाले व्यक्ति को भी चिन्हित कर उस पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

UP : हापुड़ में बड़ा हादसा, फैक्टरी का बॉयलर फटने से 8 मजदूरों की मौत, CM योगी ने दिए जांच के आदेश