Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Uttarakhand Election : मतदान खत्म होते ही भीतरघात के लगने लगे आरोप, भाजपा हुई सख्त...

हमें फॉलो करें webdunia

एन. पांडेय

गुरुवार, 17 फ़रवरी 2022 (23:48 IST)
देहरादून। मतदान खत्म होते ही हरिद्वार जिले की लक्सर सीट से बीजेपी प्रत्याशी संजय गुप्ता ने भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक पर आरोप मढ़कर पार्टी को असहज कर दिया। संजय गुप्ता जो मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के करीबी विधायक हैं ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने उनको चुनाव में हराने के लिए काम किया।

यह आरोप लगने के बाद अब पार्टी हाईकमान ने भी इस मामले की छानबीन कर मामले में पार्टी से रिपोर्ट तलब की है।एस तरह खुलेआम लगाया गया आरोप भाजपा को असहज कर रहा है। इसके बाद अगले दिन काशीपुर में बीजेपी प्रत्याशी के पिता की सिसकियां सुनाई दीं।

फिर चंपावत से बीजेपी प्रत्याशी भी भीतरघात के आरोप लगाने लगे। भाजपा के लक्सर विधायक संजय गुप्ता, काशीपुर विधायक हरभजन सिंह चीमा और विधायक कैलाश गहतोड़ी ने बीजेपी के अंदर ही सवाल खड़े किए तो इस प्रकरण से कांग्रेस को मुद्दा मिल गया।

कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी विधायकों के बयान से साफ हो गया है कि भाजपा विधानसभा में चुनाव में बुरी तरह हार रही है।कहीं यह श्रृंखला और न बढ़े और भाजपा चुनाव परिणाम आने से पूर्व ही बैकफुट पर न आ जाए, इसको लेकर अब भाजपा ऐसे बयानों पर सख्त होती दिख रही है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि यह पहला मौका नहीं है जब भाजपा के किसी विधायक ने इस प्रकार खुलकर आरोप लगाए हैं। इससे पहले भाजपा के ही विधायक अपने मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते रहे हैं। सदन के भीतर भी कई बार भाजपा विधायकों ने सरकार पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल भाजपा प्रत्याशियों के इस तरह से प्रदेश अध्यक्ष की निष्ठा पर सवाल उठा देने से साफ हो गया है कि भाजपा में न तो सरकार में ही कुछ ठीक रहा है और संगठन में भी हालात बदतर हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को इस घटना को आईने की तरह देखना चाहिए। उसकी उत्तराखंड से विदाई का वक्त तय हो गया है।

हरिद्वार जिले की लक्सर सीट से बीजेपी प्रत्याशी संजय गुप्ता ने हार के लिए विपक्षियों पर नहीं बल्कि अपने प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर ही गंभीर आरोप जड़ दिए, तो वहीं मतदान के दूसरे ही दिन हरभजन सिंह चीमा ने पार्टी के अनेक नेताओं को गद्दार तक बता दिया। चीमा ने कहा कि उन्हें मालूम है कि बीजेपी के गद्दार कौन हैं, जिन्होंने उनके बेटे त्रिलोक चीमा के चुनाव के खिलाफ काम किया।

काशीपुर से बीजेपी विधायक हरभजन सिंह चीमा ने ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। चंपावत से बीजेपी प्रत्याशी कैलाश गहतोड़ी का दुख भी मतदान के तीसरे दिन झलक आया। रुआंसे गहतोड़ी ने पार्टी नेताओं पर ही भीतरघात का आरोप मढ़ दिया। कैलाश गहतोड़ी ने कहा कि भीतरघातियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

UP में चौथे चरण में 27 फीसदी उम्मीदवार आपराधिक छवि के, एडीआर ने जारी की रिपोर्ट