Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Fact Check: ब्लड क्लॉट का खतरा, कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को हवाई यात्रा से बचना चाहिए? जानिए इस वायरल दावे का पूरा सच

webdunia
मंगलवार, 22 जून 2021 (14:08 IST)
कोरोना वायरस से जिंदगी बचाने के लिए फिलहाल वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय है। वहीं, कुछ लोग कोरोना वैक्सीन को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह की अफवाह फैला रहे हैं। ऐसे ही एक वायरल दावे में कहा जा रहा है कि स्पेन और फ्रांस में एयरलाइंस कंपनियां कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाले लोगों को एयर ट्रैवल नहीं करने की सलाह दे रही हैं। दावे के मुताबिक, ब्लड क्लॉट होने की वजह से ऐसी सलाह दी जा रही है।

क्या है वायरल-

फेसबुक यूजर Fanny Magier ने एक न्यूज चैनल का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा है, ‘यह काफी दुखद है! इससे काफी डर पैदा होने जा रहा है! मुझे ऐसे लोगों की चिंता हो रही है!’ इस स्क्रीनशॉट में ऊपर लिखा है- UNCUT-News। उसके बाद लिखा है कि स्पेन और रूस में एयरलाइंस ब्लड क्लॉट्स की समस्या पर ध्यान दे रही हैं और वैक्सीन लगवा चुके लोगों को यात्रा नहीं करने की सलाह दे रही है।



क्या है सच-

हमें इस पोस्ट पर एक यूजर Karen Davidson का कमेंट मिला। Karen ने लिखा है कि जो पोस्ट Fanny ने शेयर की है वो गलत है। साथ ही, उन्होंने  wusa9.com की एक रिपोर्ट शेयर की है। इस रिपोर्ट में इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA), साउथ वेस्ट एयरलाइंस और एक्सपर्ट डॉक्टर के हवाले से वायरल दावे को गलत बताया गया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, IATA के प्रवक्ता ने बताया है कि उन्हें वैक्सीन लगा चुके यात्रियों को नहीं ले जाने पर चर्चा करने के लिए एयरलाइनों के बीच किसी बैठक के बारे में नहीं पता है। उन्होंने आगे बताया कि IATA का कहना है कि पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो चुके लोग बिना रुकावट एयर ट्रैवल कर सकते हैं।

साथ ही, उन्होंने यह भी समझाया कि कुछ कोविड वैक्सीन से होने वाले ब्लड क्लॉट फ्लाइट के दौरान लंबे समय तक बैठने से होने वाले ब्लड क्लॉट से अलग होते हैं।

इस रिपोर्ट के अनुसार, वैंडरबिल्ट यूनिवर्सिटी के इंफेक्शियस डिजीज स्पेशलिस्ट डॉक्टर विलियम शॉफ्नर के बताया कि उन्होंने ऐसा कोई डेटा नहीं देखा है जो यह बताता हो कि वैक्सीन लगाने वाले लोगों को फ्लाइट के दौरान ब्लड क्लॉट का अधिक खतरा होता है।

आगे की पड़ताल के दौरान हमें अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी AP की एक रिपोर्ट भी मिली। इस रिपोर्ट में भी वायरल हो रहे दावे का खंडन किया गया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

श्रीनगर में हुई गुपकार मीटिंग, पीएम की सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे फारूक, महबूबा