Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Fact Check: क्या Vanadium 30 से बढ़ता है ऑक्सीजन लेवल? जानिए Experts से

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
मंगलवार, 4 मई 2021 (12:18 IST)
कोविड-19 से बचाव के लिए हर तरह के नुस्खे अपनाए जा रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी कई तरह के पोस्ट वायरल हो रहे हैं। किसी में कोविड केयर टिप्स सुझाए जा रहे हैं तो किसी में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने की दवाई बताई जा रही है। क्या यह दवाई सही है? बिना डॉक्टर के सलाह के आप यह दवाइयां ले सकते हैं? होम्योपैथी दवाई कोविड-19 के इलाज में कितनी कारगर है? आइए सीधे एक्सपर्ट्स से जानते हैं-
 
क्या हो रहा वायरल-
 
इन दिनों सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है जिसमें होम्योपैथी दवाई से ऑक्सीजन लेवल बढ़ने का जिक्र किया गया है। वायरल पोस्ट में लिखा गया है कि वैनेडियम 30 की 5-5 बूंदे दिन में चार या पांच बार लेने से तुरंत आराम मिलता है और ऑक्सीजन लेवल में आ जाता है। आइए जानते हैं यह वायरल पोस्ट कितना सही है।
 
एक्सपर्ट्स की राय-
 
आयुष मंत्रालय के सदस्य डॉ. एके द्विवेदी ने कहा, ‘‘वैनेडियम 30 रेस्पाइरेट्ररी सिस्टम को मजबूती प्रदान करेगी। लेकिन यह कोरोना मरीज पर कितनी असरदार है इस पर अभी शोध बाकी है। इसका प्रयोग कर सकते हैं। लेकिन ऑक्सीजन की कमी को कितना दूर करेगी यह कहना मुश्किल है। ऑक्सीजन मास्क हटाकर इसका प्रयोग नहीं करें। ऑक्सीजन मास्क के साथ ही इसका प्रयोग करें।”

“जब आपका ऑक्सीजन सेचुरेशन लेवल बेहतर हो जाए तब ही मास्क हटाएं। अगर आप सोच रहे हैं कि यह दवाई लेने पर ऑक्सीजन मास्क नहीं लगाना पड़ेगा, तो यह गलत है। ऑक्सीजन की अधिक कमी होने पर आपको मास्क लगाना ही पड़ेगा। दरअसल निमोनिया होने पर ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ रही है। निमोनिया के बाद आपके लंग्स कितने प्रभावित हुए हैं, यह जांच के बाद ही पता चलेगा। और इसके बाद ही ऑक्सीजन मास्क हटा सकते हैं। आप सिर्फ इसी दवाई पर निर्भर नहीं रह सकते हैं। यह दवाई सही है लेकिन इसके साथ एलोपैथिक दवाई भी जरूरी है।’’

वहीं, होम्योपैथिक फिजिशियन डॉ. रंजना सिंह का कहना है कि ‘यह दवाई सही है इससे ऑक्सीजन लेवल बढ़ता है। लेकिन यह मरीज की स्थिति पर निर्भर करता है। होम्योपैथी दवा हमेशा हर व्यक्ति के लक्षण के मुताबिक दी जाती है। यह दवा हर कोई व्यक्ति नहीं ले सकता है। क्योंकि हर व्यक्ति में लक्षण अलग-अलग होते हैं।’’

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
राहुल गांधी का ट्वीट, Lockdown ही कोरोना संक्रमण रोकने एकमात्र का समाधान