क्या पंजाब में कोरोना वायरस के मरीजों को जबरदस्ती उठाकर अस्पताल ले जा रही पुलिस...जानिए वायरल वीडियो का सच...

शुक्रवार, 20 मार्च 2020 (14:31 IST)
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में पंजाब पुलिस के अफसर और डॉक्टरों की टीम सामने से आ रहे एक लड़के को जबरदस्ती उठाकर एम्बुलेंस में डालकर ले जाते नजर आ रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि पंजाब पुलिस ने विदेश से लौट रहे व्यक्ति को बहाने से घर से बाहर बुलाया और फिर उसे पकड़कर अस्पताल ले जाया गया।

क्या है वायरल-

वीडियो को शेयर करते हुए यूजर्स लिख रहे हैं- “जब punjab govt. को पता चला कि एक व्यक्ति विदेश से लौटा है और उसमें कोरोना वायरस के लक्षण दिख रहे है, तो उसको बहाने से घर के बाहर बुला कर हॉस्पिटल ले जाया गया। हॉस्पिटल कैसे ले जाया गया, देखे।”

जब punjab govt. को पता चला कि एक व्यक्ति विदेश से लौटा है और उसमें कोरोना वायरस के लक्षण दिख रहे है, तो उसको बहाने से घर के बाहर बुला कर हॉस्पिटल ले जाया गया।
हॉस्पिटल कैसे ले जाया गया, देखे। pic.twitter.com/agyVTYpLSW

— Kiran Sinha किरण सिन्हा (@KiranSi27813888) March 18, 2020

ये वीडियो फेसबुक पर भी काफी शेयर किया जा रहा है।

क्या है सच-

वीडियो पर कुछ यूजर्स ने कमेंट किया है कि ये मॉक-ड्रिल का वीडियो है। वीडियो में जो एम्बुलेंस दिख रही है, उसका रजिस्ट्रेशन नंबर ‘PB31 H 9195’ है, जो पंजाब के मानसा जिले का है, तो हमने ‘मानसा, मॉक ड्रिल’ कीवर्ड्स की मदद से फेसबुक पर सर्च किया, तो हमें कुछ पोस्ट मिले जो इस वीडियो को मॉक ड्रिल बता रहे थे।



पड़ताल जारी रखने पर हमें ‘District Public Relations Office Mansa’ फेसबुक पेज का एक पोस्ट मिला, जिसमें वायरल हो रहे वीडियो को मॉक-ड्रिल बताया है। साथ ही बताया कि मानसा जिले में कोरोना वायरस का एक भी पॉजिटिव मामला दर्ज नहीं हुआ है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। कोरोना वायरस से संबंधित मॉक-ड्रिल को असली घटना बताकर शेयर किया जा रहा है।


वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona पर बोली सरकार, विपक्ष न दबाए ‘पैनिक बटन'